आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री बने जगन मोहन रेड्डी


नई दिल्ली।


वाई.एस.जगन मोहन रेड्डी ने गुरुवार को 46 साल की उम्र में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। लेकिन कई अन्य ऐसे मुख्यमंत्री रहे हैं, जो उनसे भी कम उम्र के रहे हैं। इसमें एम.ओ.एच. फारूक, प्रफुल्ल कुमार महंत व उमर अब्दुल्ला शामिल हैं। फारूक 29 साल की उम्र में पुडुचेरी के सबसे युवा मुख्यमंत्री बने थे। असम गण परिषद (एजीपी) नेता महंत 34 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बने थे। सक्रिय राजनीतिक परिवार से आने वाले व शेख अब्दुल्ला के पोते उमर अब्दुल्ला 2009 में 38 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बने थे। वरिष्ठ राजनेता व राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार 38 साल की उम्र में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने थे। साल 2012 में समाजवादी पार्टी की भारी जीत के बाद अखिलेश यादव उत्तर प्रदेश के सबसे युवा मुख्यमंत्री बने। उन्होंने 38 साल की उम्र में मुख्यमंत्री पद का प्रभार संभाला था। पेमा खांडू ने 36 साल की उम्र में अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। झारखंड के हेमंत सोरेन 28 साल की उम्र में मुख्यमंत्री बने थे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन