देशभर में 24 घंटे डॉक्टर्स की हड़ताल

नयी दिल्ली 


पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हुए हमले के विरोध में इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आइएमए) के आह्वान पर देशभर के डॉक्टर 17 जून को हड़ताल पर रहेंगे. यह जानकारी आइएमए ने रविवार को दी. आपात सेवाओं को हड़ताल से अलग रखा गया है. ओपीडी सेवा सहित गैर जरूरी सेवाएं सोमवार सुबह छह बजे से मंगलवार सुबह छह बजे तक 24 घंटे के लिए बंद रहेंगी.


गुजरात : इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने आज पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा के मद्देनजर गुजरात के डॉक्‍टरों ने देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया. वडोदरा के सर सयाजीराव जनरल अस्पताल के डॉक्टरों ने आउट पेशेंट विभाग के बाहर विरोध प्रदर्शन किया.
आईएमए त्रिपुरा यूनिट के जनरल सेक्रेटरी डॉ एस देबबर्मा ने कहा, 'ऑल त्रिपुरा गवर्नमेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन और आईएमए त्रिपुरा ने पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों के खिलाफ हुए हालिया हिंसा के विरोध में 24 घंटे के लिए सभी ओपीडी सेवाएं बंद कर दी है.'


राष्ट्रीय राजधानी दिल्‍ली में भी कई सरकारी और निजी अस्पतालों में सोमवार को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रभावित हो सकती हैं जहां कई डॉक्टरों ने पश्चिम बंगाल में हड़ताल कर रहे अपने साथियों के समर्थन में एक दिन के लिए काम का बहिष्कार करने का फैसला किया है. हालांकि अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) द्वारा बुलाई गई हड़ताल में शामिल होने से इनकार कर दिया है. आईएमए ने 17 जून को देशभर में हड़ताल की घोषणा की है.

AIIMS ने देर रात जारी एक बयान में कहा कि वह आईएमए द्वारा बुलाई गई राष्ट्रव्यापी हड़ताल में भाग नहीं लेगा, लेकिन सोमवार सुबह आठ और नौ बजे विरोध मार्च निकाला जाएगा. बयान में कहा गया है, "मरीजों की देखभाल को ध्यान में रखते हुए एम्स रेजिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन (आरडीए) ने हड़ताल में भाग नहीं लेने का फैसला किया है, लेकिन सोमवार सुबह आठ और नौ बजे विरोध मार्च निकाला जाएगा."


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन