मोदी सरकार नई शिक्षा नीति के तहत कोई भाषा किसी पर नहीं थोपेगी

नई दिल्ली।


सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने स्पष्ट किया है कि मोदी सरकार नई शिक्षा नीति के तहत कोई भाषा किसी पर नहीं थोपेगी। पिछली सरकार में मानव संसाधन विकास मंत्री रहे श्री जावड़ेकर ने यह स्पष्टीकरण तब दिया है जब मीडिया में यह खबरें आईं कि सरकार हिंदी को देश मे लागू करेगी। गौरतलब है कि नई शिक्षा नीति का प्रारूप श्री जावडेकर के कार्यकाल में तैयार हो गया था लेकिन कस्तूरीरंगन कमेटी ने अपनी रिपोर्ट शुक्रवार को नए मानव संसाधन विकास मंत्री रामेश्वर पोखरियाल निशंक को सौंपी। श्री जावड़ेकर ने कहा कि अभी तो रिपोर्ट केवल पेश की गई है और सरकार ने इसे कोई लागू नहीं किया है। इस रिपोर्ट पर लोगों की प्रतिक्रिया के बाद ही सरकार इसे लागू करेगी। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार सभी भारतीय भाषाओं का आदर करती हैं और उन्हें बढ़ावा देती है इसलिए किसी एक भाषा को थोपने का सवाल नहीं उठता। वैसे भी मोदी सरकार ने कोई फैसला नही लिया है। यह तो एक प्रारूप मात्र है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन