नगालैंड के उप-मुख्‍यमंत्री श्री वाई.पैटन ने केन्‍द्रीय पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास मंत्री डॉ. जितेन्‍द्र सिंह से मुलाकात की

नगालैंड के उप-मुख्‍यमंत्री श्री वाई.पैटन ने आज पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्‍य मंत्री, कार्मिक, लोक शिकायत तथा पेंशन, अंतरिक्ष और परमाणु ऊर्जा विभाग के राज्‍य मंत्री डॉ. जितेन्‍द्र सिंह से मुलाकात की और राज्‍य की विभिन्‍न विकास परियोजनाओं के बारे में उनके साथ चर्चा की।


बैठक के दौरान श्री पैटन ने पहले के एनएलसीपीआर के अंतर्गत 90:10 के अनुपात की बजाय पूर्वोत्‍तर विशेष अवसंरचना विकास योजना (एनईएसआईडीएस) के अंतर्गत केन्‍द्रीय वित्‍तीय सहायता 100 प्रतिशत करने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व वाली सरकार के प्रति आभार प्रकट किया। उन्‍होंने कहा कि नगालैंड दूरदराज का और विकासशील राज्‍य है, इस नाते उसे इस फैसले से बेहद लाभ होगा।


श्री पैटन ने 2017 की बाढ़ में पूरी तरह बह गये/क्षतिग्रस्‍त हुए बुनियादी ढांचे के पुनर्निर्माण के लिए नगालैंड राज्‍य के लिए केन्‍द्र से 13.52 करोड़ रुपये की सहायता का मामला भी उठाया। उन्‍होंने कहा कि इस आशय का फैसला पहले ही लिया जा चुका है और पूर्वोत्‍तर विकास मंत्रालय द्वारा इसकी जानकारी पिछले साल नगालैंड सरकार को दी जा चुकी है और अब केवल धनराशि जारी करने का काम ही लंबित है। उन्‍होंने पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास राज्‍य मंत्री का ध्‍यान पूर्वोत्‍तर विकास मंत्रालय की ओर से प्राप्‍त आधिकारिक सूचना की ओर आकृष्‍ट किया, जिसमें राज्‍य सरकार से कहा गया था कि पुनर्निर्माण के लिए अंतिम सीमा के दायरे में पूरी तरह क्षतिग्रस्‍त/बह गये ढांचों की श्रेणी में आने वाली परियोजनाओं की पहचान करे और उसकी मंजूरी का प्रस्‍ताव प्रस्‍तुत करे।


श्री पैटन ने कहा कि नगालैंड विकास के पथ पर अग्रसर है और उसको विश्‍वास है कि प्रधानमंत्री के नेतृत्‍व में वह विकास के नये क्षेत्र में कदम रखेगा।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन