नहरों के कटने पर जेई को निलंबित करें और किसानों के विरूद्ध दर्ज कराई जाए एफआईआर : मंत्री

लखनऊ।


धर्मपाल सिंह मंत्री सिंचाई एवं सिंचाई (यान्त्रिक), लघु सिंचाई, भू-गर्भ उत्तर प्रदेश शासन ने आज बरेली सिंचाई विभाग के निरीक्षण भवन में नहरों में पानी की उपलब्धता, बाढ़ से बचाव एवं भू-गर्भ जल स्तर की स्थिति को सुधारने के सम्बन्ध में अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की।
धर्मपाल ने बताया कि बदायूं सिंचाई परियोजना एवं राम गंगा बैराज का उद्घाटन मुख्यमंत्री जी द्वारा इसी वर्ष माह अक्टूबर में किया जाएगा। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो भी काम अवशेष रह गया है उसे जल्द से जल्द पूरा कर ले। श्री सिंह ने कहा कि 01-15 जुलाई 2019 तक अधिकारी निरीक्षण का कार्य करें। जहां पानी रुक रहा है वहां सफाई करायी जाये। सरकार का लक्ष्य किसानों के खेतों तक पानी पहुंचाना है।
मंत्री जी ने मुख्य अभियन्ता रुहेलखण्ड को निर्देशित किया कि 4 अधिकारियों की मानीटिरिंग कमेटी बनाये तथा नहरों का निरीक्षण करने के बाद अपनी आख्या प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि अगर नहर कटती है तो जे0ई0 को तुरन्त सस्पेड करें तथा किसान के खिलाफ एफ0आई0आर0 दर्ज कराये। श्री सिंह ने कहा कि इसी समय सभी राजकीय नलकूप एवं ट्यूबल को ठीक कराये जाये। निर्माण कार्यो में तेजी लाई जाये एवं निर्धारित समय में पूरा करें। मंत्री जी ने कहा कि नदियों के सर्फेस वाटर की स्थिति को सुधारना बहुत जरुरी हैं। नदियों पर चेक डैम फाटक वाले बनाये जाये। उन्होंने कहा कि पानी का उपयोग कम से कम करें एवं पानी के बचाव एवं सुरक्षा के लिए जनता को जागरुक किया जाये।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन