पंचायत के तुगलकी फरमान : दुष्कर्म आरोपी के दोस्त से जबरन पंचायत में करा डाला निकाह

बिजनौर।


बिजनौर में इन दिनों पंचायत के तुगलकी फरमान की कवायद रुकने का नाम नहीं ले रही है। यही वजह है कि पंच के ठेकेदारों ने नाबालिग दुष्कर्म आरोपी के दोस्त से जबरन बेगुनाह का पंचायत में निकाह करा डाला। जिसे लेकर पीड़ित दूल्हा पुलिस व पंचों के खौफ से डरा सहमा बैठा है। हालांकि पंचों के निकाह से अनजान पुलिस के आला अधिकारी पंचायत पर जांच कर कार्यवाही की बात कर रहे हैं।
बता दें कि बिजनौर का शाहलीपुर कोटरा इलाका जहां पर शाहआलम नाम के शख्स का पड़ोस की नाबालिक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। शाह आलम अपने दोस्त मुक़ीम के साथ प्रेमिका से मिलने गया था। चोरी छुपे मिलने की आहट जब ग्रामीणों को लगी तो गांव में पंचायत बैठ गई। पंचों ने ऐसा फैसला सुनाया जिसमें एक युवक की जिंदगी तबाह हो गई। पंचायत के तुगलकी फरमान का फैसला भी जान लीजिए जिसमें भोला-भाला बेगुनाह मुकीम को दबंग प्रधान पुत्र राशिद ने जबरन पंचायत में नाबालिक दुष्कर्म के मुख्य आरोपी शाह आलम व उसके दोस्त से मुकीम के साथ पंचायत में निकाह करा डाला। पुलिस और पंचों के खौफ के मारे गरीब परिवार बेहद ख़ौफ़ज़दा व निक़ाह होने से खासे नाराज है।
गौरतलब है कि नाबालिक युवती पड़ोस के ही शाह आलम से प्यार करती थी। पंचायत के कहने पर शुरुआती दौर में युवती ने शहालम पर अपहरण कर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। जिसे पुलिस ने अपहरण जैसे संगीन धाराओं में जेल भेज दिया है। शाह आलम के जेल जाने के बाद मीडिया के कैमरे में पीड़ित ने बताया कि शाह आलम उसके दोस्त ने मेरे साथ जबरन दुष्कर्म किया सब कुछ जानकर अनजान बनी पंचायत ने दुष्कर्म के आरोपी के दोस्त से निकाह करा डाला। 
इस घटना को लेकर सीओ नगीना अर्चना सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच कराई जा रही है। जांच के आधार पर कार्यवाही की जाएगी।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन