प्रेमी ने विवाहिता की हत्या कर सड़क किनारे फेंका शव, गिरफ्तार

लखीमपुर खीरी।


सदर कोतवाली क्षेत्र के अन्तर्गत शनिवार को सड़क किनारे एक महिला का शव मिला। पुलिस ने पांच घंटे में शव की शिनाख्त कराकर उसके दूसरे समुदाय के प्रेमी को शनिवार शाम को दबोच लिया। 
प्रेमी ने पुलिस को बताया कि उसके महिला से करीब सात साल से संबंध थे। महिला उस पर शादी का दबाव बना रही थी, इसलिए उसने गला दबाकर हत्या कर दी और शव सड़क किनारे फेंक दिया था। शनिवार सुबह गौरतारा और कोरैया संजर गांव के बीच मोड़ पर गन्ने के खेत किनारे महिला की औंधे मुह लाश पड़ी मिली। प्रधान की सूचना पर सुबह आठ बजे प्रभारी निरीक्षक फतेह सिंह फोरेसिंक टीम के साथ मौके पर पहुंचे। पुलिस ने खेत में पीली पट्टी लगाकर घटना स्थल को सुरक्षित किया।
प्रभारी निरीक्षक फतेह सिंह ने बताया कि दोपहर करीब तीन बजे शव की शिनाख्त रेनू जायसवाल पत्नी छोटू निवासी हाथीपुर (अर्जुनपुरवा) के रूप में हुई। मृतक के घर वालों से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने हिदायतनगर निवासी आमिर को दबोच लिया। प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि आरोपी आमिर ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि रेनू जायसवाल का पति 13 साल से बरेली जेल में बंद है। सात साल से रेनू जायसवाल से उसके संबंध हो गए। जून 19 में आमिर का निकाह सीतापुर से हो गया था। निकाह होने पर आमिर ने रेनू से दूरी बना ली थी। इस पर रेनू ने शादी करने का दबाव बनाया, न करने पर दुष्कर्म के मामले में जेल भिजवाने की धमकी दी थी। इससे आमिर परेशान हो गया। 25 जुलाई को आमिर ने बतौर पति-पत्नी रहने का एक अनुबंध स्टांप पेपर पर कराया था। वह उसके साथ भी रहने लगा। रेनू की धमकी से परेशान आमिर शुक्रवार की शाम रेनू को घुमाने के बहाने बाइक पर बिठाया और उसे लेकर गौरतारा मार्ग पर पहुंचा, जहं रेनू की गला दबाकर हत्या कर दी और शव डालकर भाग आया था। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ हत्या और शव छुपाने की धारा में रिपोर्ट दर्ज कर ली है।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन