मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा जनपद में की गयी घोषणओं के 18 बिन्दुओं एवं शासन के 71 बिन्दुओं की समीक्षा बैठक का आयोजन

उन्नाव


जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा निर्धारित शासन के महत्वपूर्ण 71 बिन्दुओं की समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त जिला स्तरीय अधिकारियों को अपने-अपने विभाग की बैठक समय से कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पेंशन में जो नए नाम जुड़े थे सभी को पैसा मिल रहा है या नहीं और जिन्हें नहीं मिल रहा है तो उनके अकाउंट में पैसा आना चाहिए। परियोजना निदेशक को निर्देशित करते हुए कहा कि जितने भी पात्र लाभार्थी हैं, उनको लाभ मिलना चाहिए। समस्त संबंधित अधिकारियों को आम जनमानस की ऑफलाइन आवेदन को ऑनलाइन कराने के निर्देश दिए ताकि जनमानस को किसी प्रकार की दुविधा का सामना न करना पड़े।
जिलाधिकारी ने चिकित्सकों की उपस्थिति, दवाओं की उपलब्धता, एम्बुलेंस सेवाओं की स्थिति,राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन,संस्थागत प्रसव, टीकाकरण ,वेक्टर जनित रोग डेंगू आदि के विषय में मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए। उन्होंने समस्त छात्रवृत्ति योजना, सामूहिक विवाह योजना, समस्त पेंशन योजना, 181 महिला हेल्पलाइन योजना, मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (एन0आर0एल0एम0), मनरेगा, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, राष्ट्रीय ग्रामीण पेयजल योजना, राष्ट्रीय खाद सुरक्षा योजना आदि बिन्दुओं पर चर्चा करते हुए संबंधित को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि अधूरे निर्माण कार्यों की प्रगति में तेजी लाने की आवश्यकता है। नई सड़कों का निर्माण पर चर्चा करते हुए सम्बन्धित को सड़क चैड़ी करवाने के निर्देश दिए। परियोजना निदेशक को आवासों में छत, खिड़की, दरवाजे आदि जल्द से जल्द लगवाने के निर्देश दिये और उन्होंने कहा कि इस बात को अनिवार्य रूप से ध्यान रखा जाये कि घरगिरी का पैसा जिस-जिस को दिया गया है, उसका नाम पात्रता सूची में जरूर होना चाहिये। जिलापूर्ति अधिकारी को आधार सीडिंग में तेजी लाने के कड़े निर्देश दिये। जिलाधिकारी महोदय ने यह भी कहा कि मा0 मुख्यमंत्री जी की योजनाओं में जरा सी भी लापरवाही न बरती जाये, योजनाओं की गुणवत्तापरक जांच होने पर स्थिति असंतोषजनक पाई गई तो सम्बन्धित अधिकारी पर एफ0आई0आर0 दर्ज की जायेगी। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन, नहरों में टेल तक पानी पहुंचाना, एक जनपद एक उत्पाद योजना ,सामाजिक वनीकरण आदि बिंदुओं पर चर्चा की।
मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को पोषण अभियान की बैठक प्रतिदिन प्रत्येक विकास खण्ड में कराने के निर्देश दिये। समस्त अधिकारियों को लाभार्थियों को लाभार्थीपरक योजनाओं का लाभ देने के कड़े निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि अगर लाभार्थीपरक योजना का कोई भी व्यक्ति ऐसा पाया गया जिसे लाभ नहीं मिला हो, तो उससे सम्बन्धित अधिकारी पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि जनपद स्तर से सभी की समस्याओं का निस्तारण होना चाहिए। पेंशन योजना में समाज कल्याण अधिकारी को निर्देशित करते हुये कहा कि वृद्धावस्था में लम्बित वाद नहीं आने चाहिये। रोस्टर के अनुसार विद्युत आपूर्ति के लिए विद्युत विभाग को निर्देशित करते हुए कहा कि कार्य समय पर करायें। उन्होंने पारदर्शी किसान सेवा योजना, खाद, बीज इनपुट की उपलब्धता एवं वितरण, ऋण माफी योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए कृषि विभाग को निर्देश दिए।
बैठक में पुलिस अधीक्षक श्री माधव प्रसाद वर्मा, डी0ई0एस0टी0ओ0 श्री राज दीप वर्मा, जिला विकास अधिकारी श्री आर0यू0 दिवेदी, सहित अन्य संबंधित जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थिति रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन