सभी मण्डलीय अधिकारी अपने दौरे व निरीक्षणों का फीडबैक उपलब्ध कराएं : आयुक्त

गोण्डा।


देवीपाटन मण्डल के आयुक्त श्री महेन्द्र कुमार ने विकास कार्यों की मण्डलीय समीक्षा बैठक में सभी मण्डलीय अधिकारियों को निर्देशित किया है कि वे जब भी दौरे पर जाएं तो वापस लौटकर उसका फीडबैक चाहे अच्छा या खराब आवश्यक उपलब्ध कराएं। उन्होंने कहा है कि वे अधीनस्थों द्वारा कराए गए कार्यों की गहनता से निरीक्षण करें तथा यदि कमी हो तो उसे भी उजागर करें तथा उसे ठीक कराने के साथ ही साथ आवश्यकतानुसार कार्यवाही भी करें।
आयुक्त ने मण्डलीय समीक्षा बैठक में राष्ट््ीय ग्रामीण पेयजल मिशन की समीक्षा के दौरान निर्देशित किया है कि वे जल निगम की बड़ी ग्रामीण पेयजल की ऐसी सभी परियोजनाएं जो चालू हो गई हैं और निर्माणाधीन हैं उनकी अलग-अलग जांच कर मण्डल के मुख्य विकास अधिकारी अगले 15 दिनों के भीतर उन्हें रिपोर्ट दें। उन्होंने मण्डल की ऐसी सड़कें जो चीनी मिलों को जाती हैं उसे ठीक कराने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियो को निर्देशित किया। इसके साथ ही सर्किट हाउस गोण्डा में अच्छी तरह से उद्यानीकरण कराने के निर्देश दिए हैं।
आयुक्त ने मण्डलीय के सभी जनपदों के जिलाधिकारियों को 50 लाख से अधिक की परियोजनाओं से सम्बन्धित कार्यों का मौके वर स्वयं जाकर निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने मण्डल के अस्पतालों में चिकित्सकों की उपस्थिति सुनिश्चित करने हेतु एडी हेल्थ देवीपाटन को औचक निरीक्षण करने के निर्देश देते हुए कहा कि वे निरीक्षण के पशचत अपनी निरीक्षण आख्या उन्हें अवलोकित कराएं। उन्होंने मण्डल के सभी जिलाधिकारियों व मुख्य विकास अधिकारियों को यह भी निर्देश दिए हैं कि वे अपने-अपने जनपद में कार्यदाई संस्थाओं की बैठक कराकर उनका पंजीकरण श्रम विभाग में कराएं।
आयुक्त ने आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा के दौरान अपेक्षित प्रगति न होने पर चिकित्सकों, आशाओं तथा एएनएम के वेतन/मानदेय रोकने के निर्देश देते हुए कहा कि इस योजना से मण्डल में काफी लोगों को लाभान्वित किया जा सकता है इसलिए इस योजना में अधिकाधिक लोगों को लाभान्वित किया जाय। उन्होंने अस्थाई गौ आश्रय स्थलों तथा कांजी हाउसों में क्षमता के अनुरूप गौ वंश रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने गौ पालकों को गौवंशों की सुपुर्दगी करने के कार्य में तेजी लाने के निर्देशित किया। बैठक में उन्होंने कहा कि गौ आश्रय स्थलों के निर्माण में इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए कि बिना शेड के चरही न बने। उन्होंने वृहद गौ संरक्षण केन्द्रों के निर्माण की समीक्षा के दौरान सड़क के किनारे पड़ने वाले गांवों में गौ संरक्षण केन्द्रों के निर्माण की प्रगति की भी समीक्षा की तथा जिला पंचायतों को निर्देशित किया कि वे कांजी हाउसों को भी सक्रिय करें।
आयुक्त ने बैठक में विद्युत आपूर्ति, पीएम किसान योजना, गन्ना भुगतान, आईसीडीएस, मुख्यमंत्री आवास, प्रधानमंत्री आवास, स्वच्छ भारत मिशन, खाद्यान्न आपूर्ति, पंचायतीराज, एनआरएलएम तथा मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, पेंशन आदि सहित अन्य विभागों की प्रगति की भी समीक्षा की। उन्होंने निर्देशित किया कि कोई भी जनहानि या दुर्घटना विद्युत के कारण न होने पावे तथा मण्डल की गोद ली जाने वाली पंचायतों की सूची समय से तैयार कर प्रेषित कर दी जाए।
बैठक में डीएम गोण्डा डा0 नितिन बंसल व सीडीओ गोण्डा आशीष कुमार सहित मण्डल के अन्य जनपदों के जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी, अपर आयुक्त प्रशासन आर0सी0 शर्मा, संयुक्त विकास आयुक्त देवीपाटन मण्डल अनिल कुमार पाण्डेय सहित सभी विभागों के मण्डलीय व जनपदीय अधिकारी उपस्थित रहे।



Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले