सहारनपुर के सहायक आबकारी आयुक्त तत्काल प्रभाव से निलम्बित

लखनऊ।


उत्तर प्रदेश सरकार ने जनपद सहारनपुर के सहायक आबकारी आयुक्त, पिलखनी आसवनी विनोद कुमार को शासकीय दायित्वों का सम्यक निर्वहन न किये जाने एवं विभागीय नियमों के प्रति घोर लापरवाही बरतने के कारण निलम्बित कर दिया है।
यह जानकारी देते हुए आबकारी मंत्री रामनरेश अग्निहोत्री ने कहा कि भविष्य में यदि किसी भी विभागीय अधिकारी या कर्मचारी ने किसी भी प्रकार के शासकीय कार्यो में अनियमितता या लापरवाही बरती, तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गम्भीर प्रकरणों में लिप्त पाये जाने पर अधिकारी या कर्मचारी को लद्यु दण्ड न देकर निलम्बन व सेवा समाप्ति जैसे कठोर दण्ड दिये जायेंगे।
इस प्रकरण के सम्बन्ध में आबकारी विभाग के प्रमुख सचिव संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि विगत कुछ समय से विनोद कुमार के विरूद्ध कई शिकायतें प्राप्त हुई। उन्होंने बताया के आसवनी में शीरे के स्टील टैंक संख्या-2 की छत गली हुई जीर्ण-शीर्ण अवस्था में होने, 90 दिवस से अधिक के कुल 475 निकासी पास सत्यापन के उपरान्त वापस न होने, आसवनी के गेट पर सीसीटीवी के कैमरे की रिकॉडिगं 04 जुलाई, 2019 के बाद रिकार्डिग डी0बी0आर0 में उपलब्ध न होने, आसवनी के सी0सी0टी0वी0 कैमरे बन्द पाये जाने, मदिरा के परिवहन पास में गतव्य तक पहुँचने के लिए निर्धारित अवधि से सामान्यता एक दिन का अधिक समय दिये जाने के गम्भीर प्रकरण में लिप्त पाये गये हैं। जिससे सहायक आबकारी आयुक्त विनोद कुमार को तत्काल प्रभाव से निलम्बित कर दिया गया है तथा नियमावली के प्राविधानों के तहत विभागीय अनुशासनिक कार्यवाही किये जाने के निर्देश दिये गये हैं।
भूसरेड्डी ने बताया कि निलम्बन अवधि में विनोद कुमार प्रयागराज स्थित आबकारी आयुक्त कार्यालय से सम्बद्ध रहेंगे। उन्होंने बताया कि भविष्य में भी शासकीय कार्यो में अनियमितता पाये जाने पर इसी प्रकार कड़े कदम उठाये जायेंगे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन