अदिति को नोटिस जारी करना लोकतंत्र एवं महात्मा गांधी दोनों का अपमान: भाजपा

लखनऊ।


भारतीय जनता पार्टी ने कहा है कि महात्मा गांधी के 150वें जन्म जयंती वर्ष के उपलक्ष में उ.प्र. विधानसभा द्वारा गांधी जी के सम्मान के लिए आहूत विधानसभा सत्र में कांग्रेस विधायक अदिती सिंह को भाग लेने के कारण कांग्रेस विधायक दल के नेता अजय कुमार लल्लू द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी करना लोकतंत्र एवं महात्मा गांधी दोनों का अपमान है।
भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता संजय राय ने आईपीएन से बातचीत में कहा कि विदित है कि महात्मा गांधी जी को श्रद्धांजलि देने के लिए उ0प्र0 विधानसभा का 36 घंटे की विशेष सत्र का आयोजन किया गया था। कांग्रेस पार्टी ने इस बैठक का बहिष्कार किया था परन्तु कांग्रेस विधायिका अदिती सिंह ने अन्र्तआत्मा की आवाज पर सत्र में सम्मलित होने का निर्णय लिया। कांग्रेस पार्टी अदिती सिंह के इस निर्णय के खिलाफ है। कांग्रेस पार्टी जीवन भर वोट के लिए गांधी जी का नाम लेती है और स्वयं को उनका उत्तराधिकारी बताती है। परन्तु उ.प्र. विधानसभा में जब महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि और सम्मान देने का अवसर आया तो सत्र का बहिष्कार किया। उ.प्र. कांग्रेस का यह निर्णय गांधी जी के प्रति उनकी मानसिकता और इस या कुकृत्य से बेहद आहत है, इससे यह सिद्ध होता है कि कांग्रेस पार्टी छद्म गांधीवाद की पोषक है तथा उसे उनके विचारों से कोई लेना-देना नहीं है।
प्रवक्ता ने कहा कि वास्तव में उ0प्र0 की विपक्षी पार्टियों के पास सरकार के विरूद्ध कोई मुद्दा नहीं है इसलिए गांधी जी के सम्मान में आयोजित श्रद्धांजलि सत्र का विरोध करके अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का कुत्सित प्रयास कर रहेे है। वैसे भी विधानसभा का सत्र अपनी बात करने का एक सशक्त प्लेटफार्म है और विपक्ष को यदि कोई बात कहनी थी तो इस प्लेटफार्म का उपयोग करना चाहिए था जिसमें ये चूक गये। यदि गांधी जी के सम्मान में आयोजित बैठक का विरोध करना यदि सही कदम होता तो कई दलो के विधायक अपने दल की बात न मानते हुए बैठक में शामिल नहीं होते। कांग्रेस द्वारा लिए गये इस प्रकार के निर्णय यथाशीघ्र देश को कांग्रेस को भारत मुक्त बनाने में सहयोगी होंगे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन