अंतर्राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस : स्कूलों में बच्चों को आपदा से निपटने के सिखाए गए टिप्स

गोण्डा।


अंतर्राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस के अवसर पर जिले के प्राइमरी एवं जूनियर हाईस्कूलों में बच्चों को आपदा से बचने के लिए टिप्स सिखाए गए। मॉकड्रिल के माध्यम से बच्चों को आपदाओं से निपटने के बारे में बताया गया।
जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल के निर्देश पर एडीएम रत्नाकर मिश्र की निगरानी में जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण गोंडा द्वारा जिले के स्कूलों में जिला आपदा विशेषज्ञ राजेश श्रीवास्तव के द्वारा आपदा प्रबंधन पर बच्चो के साथ जागरूकता अभियान, आपदा प्रबंधन पर चर्चा, ट्रेनिंग और मॉक ड्रिल कराया गया जिसमें बच्चों को ये बताया गया कि आपदा क्या है और कैसे बचा जाए भूकंप आने पर कैसे अपने को बचाएं, जलवायु परिवर्तन के विषय पर बताया गया, बाढ़, वज्रपात, लू, शीत लहर से बचाव के बारे में भी बताया गया. साथ ही साथ प्लास्टिक का उपयोग से क्या नुकसान होता है। प्रशिक्षण में रसोइयों को बताया गया कि गैस से आग लगने पर क्या करें साथ ही साथ समुदाय स्तर पर भी लोगो को आपदा प्रबंधन के बारे में बताया गया।
वहीं इस अवसर पर एडीएम रत्नाकर मिश्र ने कहा कि विश्व आपदा न्यूनीकरण दिवस आपदा रहित समाज का निर्माण करने के लिए नागरिकों तथा सरकार को प्रोत्साहित करता है. इसका मुख्य उद्देश्य है आपदा जोखिम को कम करना और सुरक्षित समुदाय बनाना है तथा अन्तर्राष्ट्रीय आपदा न्यूनीकरण दिवस आपदाओं के जोखिम में कमी लाने की जागरूकता विकसित करने के लिए मनाया जाता है. उन्होंने कहा कि इस दिवस को मनाने का उद्देश्य विश्व में जोखिम प्रबंधन के प्रति जागरुकता बढ़ाने एवं आपदाओं से होने वाले नुकसान को कम कैसे किया जाए इसके लिए आयोजित किया जाता है। यह दिन आपदा से उबरने की अधिक क्षमता वाले समुदायों और राष्ट्रों के निर्माण में भाग लेने के लिए हर नागरिक और सरकार को प्रोत्साहित करता है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती