भाजपा सरकार की नीतियों से परेशान है किसान : लोकदल

लखनऊ।


लोकदल ने भाजपा सरकार को किसान विरोधी करार देते हुए कहा है कि सरकार की नीतियों से किसान परेशान हैं। पार्टी ने कहा है कि सरकार ने जल्द स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिश लागू न की तो किसान सड़क से संसद पर उतर कर आंदोलन करेगा।
पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने आईपीएन को दिए अपने बयान में कहा कि भाजपा सरकार की किसान विरोधी नीति के चलते खाद, बीज, कीटनाशक दवाएं, डीजल-पेट्रोल के दाम बेतहाशा बढ़ गए हैं, जिसके चलते किसान आत्महत्या करने को मजबूर हो रहे हैं। किसानों की समस्या का हल ना निकाल पाना, फसलों का सही मूल्य न देना, किसानों की समस्या और न्यूनतम समर्थन मूल्य को दुगुना करने के वादे, गन्ना किसानों के बकाये, यही नहीं किसान हित में आई स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को भी सरकार ने लागू नहीं किया। उन्होंने कहा कि सरकार ने जल्द स्वामीनाथन रिपोर्ट की सिफारिश लागू न की तो किसान सड़क से संसद पर उतर कर आंदोलन करेगा।
सुनील ने कहा कि सरकार किसानों की जायज मांगों को माने। महंगाई पर रोक लगाए, बढ़ती हुई बिजली की दरों को वापस लें अन्यथा किसान सड़क पर उतर कर प्रदर्शन करने को मजबूर होगा। उन्होंने कहा कि किसान आवारा पशुओं व जंगली जानवरों से हो रही फसलों की बर्बादी से परेशान होने के साथ ही प्राकृतिक आपदा से पीड़ित है। आवारा पशु फसलों को बर्बाद कर रहे हैं। किसान की हालत बद से बदतर है। श्री सिंह ने प्रदेश सरकार से प्रति बीघा 35000 के हिसाब से मुआवजा की मांग भी की है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन