भारत-कज़ाकिस्तान के बीच संयुक्त सैन्य अभ्यास काज़िंद-2019 का सत्यापन अभ्यास आयोजित

लखनऊ।

भारत तथा कज़ाकिस्तान के बीच उत्तराखंड के पिथौरागढ़ में चल रहे संयुक्त सैन्य अभ्यास काज़िंद-2019 के दौरान शनिवार को सत्यापन अभ्यास आयोजित किया गया।  
इस दौरान दोनों देशों के 120 सैनिकों की टुकड़ी ने 48 घंटों तक पिथौरागढ़ के आस-पास पहाड़ी व घने जंगलों में सत्यापन अभ्यास के लिए रवाना हुए। इस सत्यापन अभ्यास के तहत दोनां देशों की सेनाओं के जवान आतंकवाद विरोधी कार्रवाई करेगें जिसमें वे घेराबंदी, खोज एवं ध्वस्तीकरण अभियान को अंजाम देते हुए आतंकवाद को निश्क्रीय करेगें और इससे जुड़े सभी बारीकियों को समझेगें।
इस अभ्यास में सैनिक घरों में घुसकर आतंकवादी को निश्क्रीय करने के लिए अपने अभियानों को अंजाम देगें। इंजीनियर बम निरोधक दस्ता भी सत्यापन अभ्यास का हिस्सा होगा जो आतंकवादियों द्वारा रखे गये बमों एवं विस्फोटकों को निश्क्रीय करने की अपनी अहम भूमिका निभायेगा।  
कज़ाकिस्तान सशस्त्र बलों के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल दौलत ओसनाव और मुख्यालय उत्तर भारत एरिया के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल कवींद्र सिंह ने इस सत्यापन अभ्यास को देखा। 12 दिनों तक भारत तथा कज़ाकिस्तान के बीच चलनेवाला यह संयुक्त सेन्य अभ्यास काज़िंद-2019 आगामी 14 अक्टूबर 2019 को संपन्न होगा।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन