गौशालाओं में अव्यवस्था पर प्रशासन ने कसे सिस्टम के पेंच

फतेहपुर।


जिलाधिकारी ने विकास भवन सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक की। जनपद में 17 गौशाला की औचक निरीक्षण कराया गया था, अधिकारियों द्वारा रिपोर्ट दी गयी है कि अधिकांश गौशालाओं में वर्षा होने के कारण खाई पट गयी है, जिसे साफ कराने के निर्देश दिये। पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि ग्राम पंचायतों में पशुओं का टीकाकरण किया गया है जिसकी सूची खंड विकास अधिकारियों को उपलब्ध करायी जाय। उन्होने कहा कि ग्रामों में मुनादी करवा दी जाय कि जिन लोगो के पशु (गौवंश) छुटटा है, उन्हे बांध ले अन्यथा टीकाकरण की सूची से सत्यापन कराया जायेगा। सत्यापन में गौवंश न पाये जाने पर उनके खिलाफ प्रति गौवंश 500 रूपये का जुर्माना लगाया जायेगा और कार्यवाही भी की जायेगी, सत्यापन के दौरान पुलिस बल भी साथ लेकर जाय।
खतरनाक नन्दियों की टैगिंग नही हुई उन्हे नम्बर आवंटित करके रजिस्टर पर अंकित करें। जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिये कि कोटेदारों से बोरो का संकलन कर अपने पास रख लें जिससे ठण्ड के दौरान गौशालाओ को उपलब्ध कराया जा सकें। जिन ग्राम प्रधानो के पास लाॅगबुक है खंड विकास अधिकारी सुनिश्चित करे कि पशुओं की लाॅगबुक नियमित भरें। प्रत्येक गौशाला में नर गौवंशों का शत प्रतिशत बधियाकरण कराया जाय। भूषा का भण्डारण कर लिया जाय और पराली की भी व्यवस्था करे तथा हरा चारा के साथ मिलाकर पशुओं को खिलाया जाय। उन्होने ईओ नगर पांलिका/नगर पंचायत को निर्देश दिये कि उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में अभियान चलाकर गौवंशो की धरपकड की जाय और नन्दियों को गौशाला शिवराजपुर भेजा जाये तथा गायो को गाय गौशाला में भेजा जाय। जिन गौशालाओं में धनराशि उपलब्ध करायी गयी है उनकी एनओसी दे दें ताकि पुनः धनराशि आवंटित की जा सकें। उन्होने ईंट भटटा, कोल्ड स्टोर, फैक्ट्री, निजी शिक्षण संस्थानो के मालिको से आहवान किया है कि गौवंशों के भरण पोषण के लिये स्वेच्छा से दान देना चाहते है तो वह दे सकते है, सहयोग के लिये उनको प्रमाण पत्र दिया जायेगा।
इसके उपरान्त मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की अधिकारियों के साथ बैठक की जिसमें 3422 आवेदन पत्र प्राप्त हुए है के सापेक्ष 3345 आवेदन पत्रों का सत्यापन किया जा चुका है। मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 उमाकांत पाण्डेय द्वारा शासन की प्राथमिकता वाली योजना में लापरवाही/डाटा न उपलब्ध कराने की दशा में चेतावनी जारी करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि 24 अक्टूबर को मुख्यमंत्री द्वारा योजना के उदघाटन का सीधा प्रसारण होगा। खंड विकास अधिकारियों को निर्देश दिये कि विधानसभावार सजीव प्रसारण दिखाने की व्यवस्था करेंगे और जनप्रतिनिधयों को भी आमंत्रित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व, पीडी, डीसी मनरेगा, डीडीओ, डीआईएस, बीएसए, डीएसओ, ख्ंाड विकास अधिकारी सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन