कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक


उन्नाव


जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट स्थित पन्नालाल सभागार में कर-करेत्तर एवं राजस्व कार्यों की मासिक समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई।
जिलाधिकारी ने कर-करेत्तर की समीक्षा करते हुये कहा कि राजस्व आय में आबकारी विभाग, परिवहन विभाग आदि में अधिक से अधिक राजस्व की पूर्ति करें और अवैध निष्कर्षण पर तेजी से कार्य करने के निर्देश दिये। उन्होंने समस्त अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि अपने कार्यालय की साफ-सफाई, अभिलेखों/रजिस्टर व शिकायत रजिस्टरों का रखरखाव सही तरीके से किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।
अपर जिलाधिकारी श्री राकेश सिंह ने समीक्षा बैठक करते हुए संबंधित अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि कार्यों की प्रगति में किसी भी प्रकार की शिथिलता एवं लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी और न ही विकास कार्यों में गुणवत्ता और मानक के साथ खिलवाड़ की अनदेखी की जाएगी। उन्होंने कहा कि शासन विकास के प्रति गंभीर और संवेदनशील है तथा विकास शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से है और देश को विकसित प्रदेश की श्रेणी में लाने के लिए कटिबद्ध हैं। कोई भी अधिकारी विभाग लक्ष्य के सापेक्ष लापरवाही न करें और सभी कार्यों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय सीमा में पूरा करना सुनिश्चित करें। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आइ0जी0आर0एस0 पोर्टल पर जो शिकायतें आ रही हैं पूरी गुणवत्ता के आधार पर निस्तारित करें।
जिलाधिकारी ने एक्स0ई0एन0 पुरवा को चेतावनी देते हुये स्टाम्प एवं रजिस्ट्रेशन में प्रगति संतोषजनक न पाये जाने पर ए0आई0जी0 स्टाम्प को प्रतिकूल प्रविष्टि, ए0आर0टी0ओ0 (प्रवर्तन) और पैसेन्जर ट्रान्सपोर्ट आॅफिसर को भी प्रतिकूल प्रविष्टि दी। बैठक में समस्त उप जिलाधिकारी, तहसीलदार सहित सम्बन्धित उपस्थित थे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन