मर्डर केस में पूर्व मंत्री सहित अन्य हुए हाजिर, सशर्त रिहा

चौबीस वर्ष पूर्व चुनावी रंजिश में हुई हत्या के मामले में चल रहा था वारंट
सुल्तानपुर।

मर्डर केस में वारंट पर चल रहे पूर्व मंत्री समेत चार आरोपियों ने स्पेशल जज एमपी-एमएलए की कोर्ट में हाजिर होकर अर्जी प्रस्तुत की। जिस पर सुनवाई के पश्चात स्पेशल जज प्रशांत मिश्र ने पूर्व मंत्री सहित सभी आरोपियों को राहत देते हुए उन्हें सशर्त रिहा करने का आदेश दिया है।
मामला जामो थाना क्षेत्र के पूरब गौरा गांव से जुड़ा है। जहां के रहने वाले राम उजागिर यादव ने 30 जून 1995 की घटना बताते हुए चुनावी रंजिश में अपने भाई रामप्रकाश यादव की गोली मारकर हत्या किये जाने के आरोप में पूर्व मंत्री जंग बहादुर सिंह, सहआरोपी हर्ष बहादुर सिंह, रमेश सिंह ,रज्जन उर्फ समर बहादुर सिंह सहित अन्य पर मुकदमा दर्ज कराया इस मामले का विचारण स्पेशल जज एमपी-एमएलए की अदालत में चल रहा है। गैरहाजिर रहने के चलते कोर्ट ने सभी आरोपियों खिलाफ वारंट जारी कर दिया था। मंगलवार को पूर्व मंत्री जंग बहादुर सिंह, हर्ष बहादुर सिंह, समर बहादुर उर्फ रज्जन व रमेश सिंह ने कोर्ट में हाजिर  होकर वारंट निरस्त किए जाने संबंधी अर्जी प्रस्तुत की। जिस पर सुनवाई के पश्चात स्पेशल जज प्रशांत मिश्र ने उन्हें राहत देते हुए सशर्त रिहा करने का आदेश दिया है। मामले में सुनवाई के लिए आगामी आठ नवम्बर की तिथि तय की गई है।

Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन