निर्माण कार्यों में गुणवत्ता एवं पारदर्शिता का शत-प्रतिशत ध्यान रखा जाये : मंत्री

लखनऊ।


प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) उपेन्द्र तिवारी ने कहा कि खेल विभाग एवं युवा कल्याण विभाग की अधूरी निर्माण योजनाओं को प्राथमिकता से पूरा कराया जाये। उन्होंने अधिकारियों को कड़े दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि मेरठ, वाराणसी, सहारनपुर में बन रहे स्टेडियमों का निर्माण शीघ्र पूरा किया जायें। इसके साथ ही निर्धारित अवधि में सभी योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया है कि निर्माण कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही और उदासीनता बर्दाशत नहीं की जायेगी। निर्माण कार्य की गुणवत्ता पर शत-प्रतिशत विशेष ध्यान दिया जाए।
श्री तिवारी ने आज यहां खेल निदेशालय एवं युवा कल्याण निदेशालय में विभिन्न निर्माण कार्यों के लिए नामित कार्यदायी संस्थाओं के अद्यतन कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने खेलो इण्डिया खेलो योजना के तहत खेल अवस्थापना के सृजन की प्रगति एवं मुख्यमंत्री जी की घोषणा के क्रम में प्रदेश में 19 स्थानों पर ग्रामीण स्टेडियमों के निर्माण कार्यों में तेजी लाने और ससमय कार्य पूरा करने के निर्देश दिए। श्री तिवारी ने कहा कि निर्माण कार्यों में आवंटित धनराशि का उपयोग पूर्ण रूप से किया जाये और धनराशि अवशेष न रहने पाये।
खेल राज्य मंत्री ने कहा कि सरकार खेलों के प्रोत्साहन के प्रति पूरी तरह संवेदनशील है। ग्रामीण क्षेत्रों में मल्टीपरपज हाल एवं स्टेडियमों का निर्माण कराया जा रहा है। ताकि ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को खेल का बेहतर स्थान प्राप्त हो सके और वे अपनी प्रतिभा का उत्कृष्ट प्रदर्शन कर देश एवं प्रदेश का नाम रोशन कर सके। उन्होंने राष्ट्रीय एवं सामाजिक क्षेत्रों में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए युवक और युवती मंगल दलों को भी प्रोत्साहन देने की बात कही।



Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले

’’पवन गुरू, पानी पिता, माता धरति महत’’ को अपने जीवन का अंग बनायें : स्वामी चिदानन्द सरस्वती