उ.प्र. पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ ने ली परिषद की सम्बद्धता

लखनऊ।

उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ उत्तर प्रदेश की कार्यकारिणी ने प्रान्तीय कार्यकारिणी की बैठक में लिए गए निर्णयानुसार राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद से सम्बद्धता ले ली है। उनकी सम्बद्धता पर परिषद के अध्यक्ष एस.पी. तिवारी और महामंत्री आर.के. निगम ने मुहर लगा दी है। संघ के प्रदेश अध्यक्ष क्रांति सिंह ने बताया कि संघ ने परिषद के अध्यक्ष एस.पी. तिवारी को संरक्षक बनाया है।
इस सम्बद्धता के बाद जनपदीय अध्यक्षों एंव मंत्रियों को भेजे परिपत्र में प्रदेश अध्यक्ष क्रांति सिंह ने निर्देश दिये है कि राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद (एस.पी. तिवारी) की जनपदीय शाखाओं के साथ तालमेल रखकर उनके कार्यक्रमों के साथ पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारियों के हित में काम करें।
संघ के महामंत्री बंसत लाल ने बताया कि दीपावली के उपरान्त संघ प्रदेश के पंचायती राज सफाई कर्मचारियों की लम्बित मांगों को लेकर प्रमुख सचिव पंचायती राज एवं विभागीय मंत्री से मुलाकात करेगा एवं संतोष जनक पूर्ण का आश्वासन न मिलने पर प्रान्तीय कार्यकारिणी बुलाकर आन्दोलन की घोषणा करेगा। मुख्य मांगों के रूप में सफाई कर्मचारियों को पदोन्नति की व्यवस्था की जाए। समस्त जनपदों में एसीपी जल्द लागू की जाए। प्रत्येक माह समस्त जनपदों में मान्यता प्राप्त सेवा संघों से वर्ता कर निराकरण कराया जाए।समस्त मृतक आश्रितों को उनकी मूल योग्यता के अनुरूप विभाग के नियुक्त किया जाए। पे-रोल व्यवस्था समाप्त की जाए। निदेशालय द्वारा पूर्व प्रेषित किए गए सफाई कर्मचारियों को सुपरवाइजर के पद स्वीकृति किए जाने की कार्यवाही अमल में लाई जाए।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन