आईसीएल पर बीसीसीआई द्वारा लगाया गया प्रतिबंध गलत था : सहवाग


नई दिल्ली


भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग का कहना है कि 2007 में शुरू हुई इंडियन क्रिकेट लीग (आईसीएल) पर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा लगाया गया प्रतिबंध गलत था। उन्होंने यह बात राष्ट्रीय राजधानी में बुधवार को इंडो इंटरनेशनल प्रीमियर कबड्डी लीग के लांच के मौके पर कही। सहवाग ने साथ ही कहा कि लीग चाहे कोई भी हो, उसमें खेलने वाले खिलाडि़यों पर प्रतिबंध लगाना गलत है। सहवाग ने यह बात आईपीकेएल में हिस्सा लेने वाले खिलाडि़यों पर प्रतिबंध लगने की संभावना के संबंध में कही। भारत में कबड्डी की दो राष्ट्रीय महासंघ काम कर रही हैं। एक है भारतीय एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई)और दूसरी है राष्ट्रीय कबड्डी महासंघ (एनकेएफ)। एकेएफआई को भारतीय ओलिंपिक संघ से मान्यता प्राप्त है। हालांकि एकेएफआई की मान्यता को लेकर कई तरह के केस अदालत में हैं और इसे लेकर विवाद भी चल रहा है। ऐसे में जब सहवाग से पूछा गया कि दो संघों की मान्यता को लेकर चल रहे विवाद में अकसर खिलाडि़यों का नुकसान होता है और खिलाडि़यों पर भी प्रतिबंध का डर रहता है, तो उन्होंने कहा कि खिलाडि़यों के ऊपर बैन नहीं लगना चाहिए। यह खेल मंत्रालय फैसला लेगा कि किसे मान्यता मिले। अगर खिलाड़ी यह लीग खेल रहे हैं, तो चयनकर्ताओं के लिए खिलाडि़यों को चुनना आसान हो जाता है। बैन करने से खिलाडि़यों का नुकसान है ,क्योंकि वह खेल नहीं पाएगा और इससे अच्छा है कि वह लगातार खेले, क्योंकि खिलाड़ी खेलेगा तभी सुधार करेगा। उनके इस जबाव पर जब उनसे पूछा गया कि क्या आईसीएल पर प्रतिबंध गलत था, तो उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए था।


Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

अपनी दाढ़ी का रखें ख्याल, दिखेंगे बेहद हैंडसम