प्रकाश सिंह बादल की बहू कौर लगातार तीसरी बार बठिंडा लोकसभा सीट से जीतने में कामयाब

चंडीगढ़।


शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर बादल की पत्नी और पांच बार पंजाब के मुख्यमंत्री रहे प्रकाश सिंह बादल की बहू कौर लगातार तीसरी बार बठिंडा लोकसभा सीट से जीतने में कामयाब रहीं।


पति-पत्नी की जोड़ी ने संसदीय चुनावों में जीत हासिल की है। अपनी 98 वर्षीय पार्टी के माइक्रो पोल प्रबंधन के लिए जाने जाने वाले सुखबीर बादल ने फिरोजपुर से 1,97,008 मतों के रिकॉर्ड अंतर से जीत दर्ज की।


वर्ष 2009 में कौर ने कांग्रेस के नेता और वर्तमान में पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के बेटे रणिइंदर सिंह को एक लाख वोटों के अंतर से हराया था।


2014 में, हरसिमरत कौर ने पंजाब के वित्त मंत्री और अपने बहनोई मनप्रीत सिंह बादल को हराया।


इस बार, 25 जुलाई को 53 साल की होने जा रही हरसिमरत कौर कांग्रेस प्रत्याशी और विधायक अमरिंदर सिंह राजा वारिंग को 21,772 मतों के कम अंतर के करीबी मुकाबले में हराने में कामयाब रहीं।


उनके सहयोगी ने आईएएनएस से कहा कि कौर केपति सुखबीर बादल ने पार्टी प्रमुख होने के नाते मोदी मंत्रिमंडल में शामिल होने से इनकार कर दिया। क्योंकि उनका मानना है कि उनका ध्यान अब राज्य में हार चुके अकाली दल के पुनर्निर्माण पर होना चाहिए।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन