आयकर विभाग मनाएगा ‘आयकर दिवस 2019’

केन्‍द्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) के साथ-साथ सभी क्षेत्रीय कार्यालय 24 जुलाई, 2019 को 159वां आयकर दिवस मनाएंगे। उल्लेखनीय है कि ब्रिटिश शासन के खिलाफ प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के दौरान ब्रिटिश सरकार को हुए नुकसान की भरपाई के लिए 24 जुलाई, 1860 को भारत में पहली बार सर जेम्स विल्सन द्वारा आयकर लगाया गया था। इसी को ध्यान में रखते हुए 24 जुलाई को आयकर दिवस मनाया जाता है।


आयकर दिवस 2019 से ठीक पहले वाले सप्ताह के दौरान देश भर में आयकर विभाग के क्षेत्रीय कार्यालयों द्वारा विभिन्न गतिविधियां आयोजित की गई हैं। अनेक क्षेत्रीय कार्यालयों ने करदाताओं की लंबित शिकायतों के निपटारे में मदद के लिए शिकायत निवारण सप्ताह/पखवाड़ा मनाया। कुछ क्षेत्रीय केन्द्रों या कार्यालयों ने स्थानीय टैक्स बार एसोसिएशन की मदद से करदाताओं को निःशुल्क कानूनी सहायता भी उपलब्ध कराई। कुछ विशेष केन्द्रों में पारस्परिक संवादात्मक और सूचनात्मक डिजिटल डिस्प्ले युक्त डिजिटल कियॉस्क भी लगाए गए हैं, ताकि करदाताओं को दी जाने वाली सेवाएं बेहतर की जा सकें। राष्ट्र निर्माण में उल्लेखनीय योगदान देने वाले सुपर सीनियर करदाताओं का अभिनंदन करने के लिए कई क्षेत्रीय कार्यालय विशेष समारोह भी आयोजित कर रहे हैं। इसके साथ ही विभिन्न निर्दिष्ट कार्यों को पूरा करने में विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा की गई कड़ी मेहनत की प्रशंसा भी इन समारोह में की जा रही है। आयकर विभाग एक 'करदाता ई-सहयोग अभियान' भी शुरू करेगा, जिसके तहत आयकर रिटर्न की ई-फाइलिंग करने और कर संबंधी अन्य दायित्वों के निर्वहन में करदाताओं और अन्य हितधारकों को आवश्यक सहायता एवं सहयोग दिया जाएगा।


इस दौरान कई संपर्क कार्यक्रम भी आयोजित किए गए, ताकि एक मूल्य मानक के रूप में कर अदायगी को प्रोत्साहित किया जा सके। इसके साथ ही इस दौरान संभावित करदाताओं को इस बात से अवगत कराया गया कि कर का भुगतान करना सभी नागरिकों का एक नैतिक कर्तव्य है। इसके तहत कर अधिकारियों ने शैक्षणिक संस्थानों का दौरा किया। इसके अलावा बार और चार्टर्ड एकाउंटेंट एसोसिएशन तथा अन्य हितधारकों के सदस्यों के साथ सार्वजनिक संवाद आयोजित किए गए। कई क्षेत्रीय केन्द्रों अथवा कार्यालयों ने स्कूली बच्चों के लिए प्रतिस्पर्धाएं आयोजित कीं, जिनमें निबंध प्रतियोगिता, वाद-विवाद, प्रश्नोत्तरी, 'कर भुगतान तथा राष्ट्र निर्माण में इसकी अहमियत' विषय पर स्लोगन एवं कथा लेखन प्रतियोगिता शामिल हैं। कुछ कार्यालयों ने करों के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया। इसी तरह कई अन्य कार्यालयों ने टैक्स को लेकर वाकाथॉन/टैक्साथॉन का आयोजन किया।


कर अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपनी सामाजिक जवाबदेही को ध्यान में रखते हुए रक्तदान शिविरों में भी भागीदारी की और अस्पतालों का दौरा किया। उन्होंने अपने-अपने कार्यालयों के साथ-साथ सार्वजनिक स्थलों पर स्वच्छता अभियान भी चलाया और कई स्थानों पर स्वतंत्र रूप से तथा अनेक स्थलों पर वन विभाग के सहयोग से वृक्षारोपण अभियान चलाया। कुछ क्षेत्रों में विभाग द्वारा वर्षा जल के संचयन की पहल भी की गई।


जहां एक ओर कई क्षेत्रीय कार्यालय आयकर दिवस 2019 मनाने के लिए स्थानीय स्तर पर समारोह आयोजित करेंगे, वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय स्तर पर मुख्य समारोह 24 जुलाई, 2019 को नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा, जिसकी अध्यक्षता माननीय वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारामन करेंगी। वित्त एवं कॉरपोरेट कार्य राज्य मंत्री श्री अनुराग सिंह ठाकुर इस अवसर पर सम्मानित अतिथि होंगे। इस दौरान विभागीय प्रकाशन, ई-जर्नल, संपर्क कार्यक्रमों के लिए प्रचार किट इत्यादि जारी किए जाएंगे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन