अध्यापक-अध्यापिकाओं की कार्य के प्रति लापरवाही किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं: मंत्री

लखनऊ।


प्रदेश की बेसिक शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्रीमती अनुपमा जायसवाल के निर्देश पर प्राथमिक विद्यालय के दो सहायक अध्यापकों को निलम्बित कर दिया गया हैं। उन्होंने बताया कि बेसिक शिक्षा अधिकारी सीतापुर की जांच में प्राथमिक विद्यालय ससुर्दीपुर, विकासखण्ड-पिसावां में कार्यरत सहायक अध्यापक श्री अतुल कुमार मिश्र को विद्यालय में सोने का दोषी पाया गया है। इनके द्वारा विद्यालय में नियमित रूप से उपस्थित होकर कार्य न करते हुए अनुशासनहीनता करने एवं अपने दायित्वों के निर्वहन में जानबूझकर शिथिलता एवं लापरवाही बरती गयी। जिस कारण से इन्हें तत्काल निलंबित कर दिया गया है।
श्रीमती जायसवाल ने बताया कि इसी विद्यालय की सहायक अध्यापिका श्रीमती रेखा रानी को अध्यापक उपस्थिति पंजिका पर गलत मंशा से अग्रिम हस्ताक्षर बनाने, अनुशासनहीनता तथा विभागीय आदेशों एवं निर्देशों की अवहेलना एवं स्वेच्छाचारिता का दोषी मानते हुए निलम्बित किया गया है।
उल्लेखनीय है कि गत बुधवार को श्री अतुल कुमार मिश्र पढ़ाने के समय बच्चों के बीच चटाई बिछाकर सो रहे थे। उनके सोते हुए फोटो सोशल मीडिया के माध्यम से बेसिक शिक्षा मंत्री के नम्बर पर पहुंची थी। बेसिक शिक्षा मंत्री ने इसका संज्ञान लिया और बेसिक शिक्षा अधिकारी सीतापुर को इसकी जांच के तत्काल आदेश दिए थे। बेसिक शिक्षा अधिकारी की जांच के दौरान श्री मिश्र एवं श्रीमती रेखा रानी दोषी पाये गये।
शिक्षामंत्री ने कहा कि प्राइमरी स्कूलों के अध्यापक-अध्यापिकाओं की कार्य के प्रति लापरवाही किसी भी दशा में बर्दाश्त नहीं की जाएगी और दोषी लोगों को दण्डित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार बेसिक शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार लाने के प्रति कटिबद्ध है। प्रदेश सरकार की यह मंशा तभी पूरी होगी जब बेसिक शिक्षा से जुड़े अधिकारी, कर्मचारी तथा अध्यापक-अध्यापिकायें अपने-अपने कर्तव्यों का निर्वहन निष्ठापूर्वक करेंगे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले