अर्थ एवं संख्या प्रभाग द्वारा औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के त्वरित अनुमान जारी

लखनऊ।


उत्तर प्रदेश के अर्थ एवं संख्या प्रभाग द्वारा औद्योगिक उत्पादन सूचकांक तथा उपयोग आधारित सूचकांक (आधार वर्ष 2011-12) अप्रैल, 2019 के लिए त्वरित अनुमान जारी किये गये हैं। अप्रैल, 2019 के लिए औद्योगिक उत्पादन सूचकांक का सामान्य सूचकांक का त्वरित अनुमान 130.6 है, जो अप्रैल, 2018 की तुलना में 3.8 प्रतिशत अधिक रहा है।
अर्थ एवं संख्या प्रभाग से मिली जानकारी के अनुसार अप्रैल, 2019 के खनन का सूचकांक 152.4, विनिर्माण का सूचकांक 128.2 और विद्युत क्षेत्र का सूचकांक 121.3 रहा है। माह अप्रैल, 2019 में खनन क्षेत्र की दर 2018 की तुलना में 38.7 प्रतिशत अधिक रही है।
उद्योगों के विनिर्माण क्षेत्र के 23 उद्योग समूहों में से 14 ने पिछले वर्ष अप्रैल माह की तुलना में अप्रैल, 2019 के दौरान धनात्मक वृद्धि प्राप्त की गयी। इनमें खाद्य उत्पादों का उत्पादन 1.4, पेय पदार्थों का उत्पादन 0.5, तम्बाकू उत्पादों का उत्पादन 11.2, कपड़ा निर्माण 8.0,फर्नीचर को छोड़कर लकड़ी और लकड़ी तथा कार्क से बनी वस्तुओं का उत्पादन कागज तथा कागज उत्पादों का उत्पादन 39.4, प्रिन्टिंग तथा रिकार्डेड मीडिया का पुनः उत्पादन 81.1, रसायन और रसायनिक उत्पादों का उत्पादन 4.7, रबर और प्लास्टिक उत्पादों का उत्पादन 64.5, अन्य गैर धात्विक खनिज उत्पादों का उत्पादन 11.2, कम्प्यूटर, इलेक्ट्रानिक और ऑप्टिकल उत्पादों का उत्पादन 31.2, मशीनरी और एन0ई0सी उपकरणों का उत्पादन 6.5, मोटर वाहन, ट्रेलर तथा सेमी ट्रेलरों का उत्पादन 13.4, फर्नीचरों का उत्पादन 61.0, अन्य उत्पादन में 27.1 प्रतिशत की वृद्धि दर रही है। पेन्टिंग तथा रिकार्डेड मीडिया का पुनः उत्पादन, उद्योग समूह ने सर्वाधिक 81.1 प्रतिशत की वृद्धि हासिल की। रबर और प्लास्टिक उत्पादों के उत्पादन में 64.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। अप्रैल, 2019 में प्राथमिक वस्तुओं के तहत 131.6, पूंजीगत वस्तुओं के तहत 188.7, मध्यवर्तीय वस्तुओं के तहत 130.3, आधारी संरचना (इन्फ्रास्ट्रक्चर) वस्तुओं के अन्तर्गत 124.9, टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं के अन्तर्गत 96.4 तथा गैर टिकाऊ उपभोक्ता वस्तुओं का सूचकांक 136.6 रहा। अप्रैल, 2019 में अप्रैल, 2018 की तुलना में आधारी संरचना/निर्माण वस्तुओं में 2.6 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। उपभोक्ता टिकाऊ और उपभोक्ता गैर टिकाऊ वस्तुओं में 14.5 प्रतिशत तथा 10.5 प्रतिशत की वृद्धि रही है।
अर्थ एवं संख्या प्रभाग के अनुसार औद्योगिक उत्पादन सूचकांक के माह अप्रैल, 2019 के त्वरित अनुमानों के साथ ही कारखानों से प्राप्त अद्यतन आंकड़ों से मार्च, 2019 के अनंतिम सूचकांक को तैयार किया गया है। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक आधार वर्ष 2011-12 पर माहवार त्वरित अनुमान केन्द्रीय संख्यिकीय कार्यालय भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराये गये मार्गदर्शन के अनुसार उत्तर प्रदेश के विभिन्न कारखानों और विभागों से उपलब्ध हुए आंकड़ों के आधार पर सूचकांक को तैयार किया गया है। औद्योगिक उत्पादन सूचकांक तथा उपयोग आधारित सूचकांक के त्वरित अनुमान के संबंध में विस्तृत जानकारी वेबसाइट पर उपलब्ध है।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले