बिजली न मिलने पर नाराज सैकड़ों किसानों घेरा पॉवर हाउस


एक्सईन, एसडीओ के आश्वासन पर हुए शांत
असोथर (फतेहपुर)।


33/11 विद्युत उपकेंद्र असोथर से सैकड़ों गांवों को विद्युत आपूर्ति की जा रही हैं, उपकेंद्र असोथर से 5 फीडर संचालित हैं, जिनमें प्रमुख समस्या नरैनी फीडर की हैं, नरैनी फीडर सहित अन्य फीडर के सैकड़ों किसानों ने आज सुबह 10 बजे से विद्युत उपकेंद्र का घेराव किया और जम कर हंगामा काटा, किसानों ने कहा एक महीने से असोथर उपकेंद्र से पर्याप्त मात्रा में विद्युत आपूर्ति नहीं की जा रही हैं, जिससे धान की रोपाई नहीं हो पा रही हैं व जो धान लग गया हैं उसे सींचने के लिए भी संकट हैं ।
क्षेत्र से आये एक सैकड़ा से अधिक अन्नदाताओ ने कहा कि बिजली विभाग द्वारा हर महीने हजारों रुपये बिजली के बिल के रूप में वसूला जा रहा हैं, जबकि इसके बिजली आपूर्ति पूरे दिन एक से दो घण्टे के लिए ही मिल रही हैं। उपभोक्ताओं का कहना था कि अगर बिजली उपकेंद्र से नही मिल सकती तो हम सबका सामूहिक रूप से नलकूपों, ट्यूबवैलों का कनेक्शन काट दिया जाय। नरैनी फीडर के उपभोक्ताओं ने बताया कि पिछले एक दशक से अधिक समय से मनावां गांव से लेकर यमुना पट्टी को जोड़ने वाले गांवों सरकंडी आदि में लोहे की तार लगी हैं। जिससे वह फाल्ट होकर आए दिन कई दिन तक ब्रेकडाउन रहती हैं ।
नरैनी फीडर, जरौली फीडर, घरवासीपुर फीडर, थरियांव फीडर, गाजीपुर फीडर, कस्बा असोथर को बिजली आपूर्ति उपकेंद्र असोथर से मिलती हैं, उपकेंद्र में पिछले एक पखवाड़े से 33 हजार जर्जर लाइन में 11 हजार लाइन लगा देने से आए दिन फाल्ट व ब्रेकडाउन की वजह से सभी फीडरों की बिजली आपूर्ति प्रभावित है, आलाधिकारियों और विभाग के तमाम अधिकारियों की मिन्नते कर चुके किसानों का आज गुस्सा फूट पड़ा और उपकेंद्र पर जमकर हंगामा काटा व बिजली विभाग, जिला प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाए।



Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन