ढकिया की ओर बढ़ रही शारदा की तेज लहरें, ग्रामीणों में हड़कम्प

पलिया खीरी।


हर साल बारिश के सीजन में शारदा नदी की लहरें दर्जनों गांवों में अपना तांडव मचाती हैं। इतना ही नही कई गांवों के आस्तित्व को भी नदी समाप्त कर चुकी है। पिछले तीन सालों से नदी की लहरों ने भीरा के गांव ढकिया को अपनी आगोश में ले रखा है। नदी की तेज लहरे दर्जनों ग्रामीणों के घरों को तो अपने में समा ही चुकी हैं साथ ही सैकड़ों एकड़ कृशि योग्य भूमि व उस पर किसानों द्वारा खून पसीने से सीची गई फसल को अपनी आगोश में ले चुकी है। इस साल भी नदी का कटान गांव को तबाह करने के लिये आतुर दिख रहा है। नदी की तेज लहरें गांव से कुछ ही दूरी पर रह गईं हैं जिसको लेकर ग्रामीण काफी भयभीत हैं।
बाढ़ की विभीशिका को झेल रहे ढकिया खुर्द गांव एक बार फिर कटान के मुहाने पर है। ग्रामीणों के मुताबिक यह गांव नदी से काफी दूर था और उपजाऊ भूमि के चलते किसान काफी खुशहाल थे। लेकिन पिछले करीब तीन सालों से गांव के ग्रामीण बारिश के सीजन के आते ही सहम जाते है। अभी तक नदी की तेज लहरें किसानों की सैकड़ों एकड़ भूमि व उस पर खड़ी फसल को तो लील ही चुकी हैं और वह नदी तेजी के साथ गांव की ओर बढ़ रही है। नदी को अपनी ओर तेजी से बढ़ता देख ग्रामीण काफी भयभीत हैं।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन