स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर सख्त हुए डीएम, वाहन चालकों का होगा चरित्र सत्यापन व स्वास्थ्य परीक्षण


मानकों को दरकिनार कर फर्राटा भरने वाले वाहन होगें सीज


गोण्डा।


स्कूली वाहनों के चालकों का चरित्र सत्यापन कराया जाय तथा कई बार एक्सीडन्ेट कर चुके चालकों का ड्राइविंग लाइसेन्स निरस्त किया जाए। बिना फिटनेस वाले वाहनों को अभियान चलाकर सीज करने की कार्यवाही की जाए। बिना मानकों के स्कूली वाहन चलवाने वाले स्कूलों के प्रबन्धकों को सीधे जिम्मेदार मानते हुए उनके विरूद्ध नामजद एफआईआर दर्ज कराई जाए। स्कलू बसों में सीसीटीवी कैमरे व जीपीएस लगवाए जाएं। यह निर्देश जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल ने कलेक्ट्रेट सभागार में विद्यालय वाहन सुरक्षा समिति की बैठक में परिवहन विभाग के अधिकारियों को दिए हैं।
जिलाधिकारी ने समिति की बैठक में सख्त निर्देश दिए हैं कि स्कूली बच्चों के जीवन से खिलवाड़ कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। परिवहन विभाग मानकों का सख्ती से अनुपालन कराए। उन्होने निर्देश दिए कि वाहनों के चालकों की सूची व चरित्र सत्यापन एक हफ्ते के अन्दर कराकर उन्हें रिपोर्ट दी जाए तथा ऐसे ड्राइवर जिन्होंने कई बार एक्सीडेन्ट किया हो, उनके लाइसेन्स निरस्त किए जाएं। क्षमता से अधिक बच्चों को ढोने व बिना फिटनेस वाले वाहनों को अभियान चलाकर सीज किया जाए। स्कूलों एवं कालेजों में वाहन सुरक्षा समितियों का गठन किया जाए तथा विद्यालयों में छात्र-छात्राओं को सुरक्षा के टिप्स भी बताएं। जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक तथा जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए हैं कि वे जनपद के सभी विद्यालय प्रबन्धकों को इस सम्बन्ध सख्त चेतावनी जारी कर दें। सभी वाहनों में जीपीएस व सीसीटीवी कैमरे लगवाने के निर्देश दिए गए हैं। सीएमओ को भी सख्त निर्देश दिए गए हैं कि वे चालकों के नेत्र व स्वास्थ्य परीक्षण में मानकों का कतई विचलन न होने दें। एआरटीओ को निर्देश दिए कि सभी वाहन चालकों का ड्रेस कोड सख्ती से लागू कराया जाय। उन्होने एआरएम रोडवेज को सख्त चेतावनी दी है कि अब कोई भी रोडवेज बस निर्धारित रूट कचेहरी से होकर रोडवेज बस स्टाप से आने जाने के बजाय यदि रघुकुल विद्यापीठ की तरफ से आएगी या जाएगी तो तत्काल उस रोडवेज बस को सीज कर दिया जाएगा। उन्होने यातायात निरीक्षक को आदेश का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। शहर के सघन आबादी वाली सड़कों के किनारे फुटपाथ बनवाने तथा खुले नालों को ढंकवाने के निर्देश ईओ नगरपालिका को दिए हैं। प्रसिद्ध मन्दिर दुःखहरण नाथ मन्दिर के सामने सड़कों पर वाहनों के जाम का समाधान तत्काल निकलवाने के लिए पार्किंग स्थल चिन्हांकित करने के निर्देश नगर मजिस्ट्रेट, सीओ व ईओ को दिए हैं। इसके अलावा हिट एण्ड रन मामलों की लम्बित सभी जांचें अतिशीघ्र पूरी कराने के निर्देश दिए हैं। पेट्रोल पम्पों पर नो हेल्मेट नो पेट्रोल फार्मूले को सख्ती से लागू कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।
बैठक में सीडीओ आशीष कुमार, नगर मजिस्ट्रेट राकेश सिंह, सीएमओ डा0 मधु गैरोला, एआरटीओ प्रवर्तन राजेश मौर्य, एआरएम रोडवेज गोण्डा, जिला गन्ना अधिकारी ओपी सिंह, बीएसए मनीराम सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक अनूप श्रीवास्तव, एक्सईएन पीडब्लूडी, ईओ सिटी विकास सेन, यातायात प्रभारी आनेन्द्र यादव, राजेश गुप्ता तथा कालेजों के प्रबन्धक व प्रधानाचार्यगण रहे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन