15 साल पहले कश्मीरी अतिका से किया था प्रेम विवाह, धारा 370 हटने से खुशी

बिजनौर।


कश्मीर में धारा 370 हटने के बाद बिजनौर के नजीबाबाद के महबूब के जहन में 15 साल पहले खौफ के माहौल का वह किस्सा ताजा हो गया है जब कश्मीर में काम करते हुए वह एक युवती अतिका को अपना दिल दे बैठा था और दोनों ने प्रेम विवाह कर लिया था। विवाह का युवती के परिजनों ने विरोध किया तो उसे जान बचाकर वापस बिजनौर लौटना पड़ा। हालांकि 6 साल पहले युवती के परिजनों से भी अब इस परिवार के संबंध मधुर हो चुके हैं आज दोनों अपने परिवार के साथ खुश हैं।
नजीबाबाद के मोहल्ला संतोमालन निवासी महबूब ने बताया कि 15 साल पुरानी बात है जब वह कश्मीर में सेना के कैंप में कारपेंटर का काम करता था, वहीं उसकी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में मझगांव निवासी अकबर बट की अतीका से आंखें चार हो गई। दोनों का प्रेम परवान चढ़ा तो निकाह का फैसला ले लिया, लेकिन खौफ के माहौल और अतिका के परिजनों के विरोध के चलते दोनों ही डरे हुए थे। नौबत यहां तक आई कि दोनों को वहां से जान बचाकर नजीबाबाद लौटना पड़ा लेकिन उसकी परेशानी अभी तक कम नहीं हुई थी। कुछ दिन बाद ही कश्मीर की पुलिस नजीबाबाद आ पहुंची लेकिन उन्हें पकड़ने में नाकाम रही। धीरे-धीरे समय बीता और पुराने जख्म भरने शुरू हुए। करीब 6 साल पहले महबूब की उसके ससुराल वालों से बात होनी शुरू हुई और दोनों परिवार के बीच हालात सामान्य हुए। 15 साल बाद कानून बदलने की जब खबर मिली तो महबूब की पत्नी अतिका ने खुशी जताई। खौफ का माहौल खत्म हो जाएगा। महबूब ने बताया कि उनके चार बच्चे हैं। एक बड़ा बेटा और तीन बेटियां है। वह अपने परिवार के साथ खुश है। महबूब ने बताया कि धारा 370 हटने पर खुशी का माहौल है और वह भी बहुत खुश है।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन