33 करोड़ देवी देवताओं में परम् पुरूषोत्तम श्री कृष्ण ही मूल हैं : अपरिमेय श्याम दास


लखनऊ।


इस्कॉन मंदिर के अध्यक्ष अपरिमेय श्याम दास ने रविवार को यहां कहा कि हिन्दू धर्म के 33 करोड़ देवी देवताओं में से परम् पुरूषोत्तम श्री कृष्ण ही मूल हैं। जिन्हें मुस्लिम धर्म में अल्लाह और ईसाई धर्म में गॉड के नाम से जाना जाता है। उन्होनें बताया कि अध्यात्मिक दृष्टि से देखने पर यह ज्ञात होता है कि अच्छे लोगों के साथ बुरा तथा बुरे लोगों के साथ अच्छा कभी नहीं हो सकता। यह तभी तक रहता है जब तक व्यक्ति के पुण्य उसके साथ रहते हैं। 
इस्कॉन मंदिर द्वारा श्री कृष्ण जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में अंसल टेक्निकल कैम्पस सेक्टर सी, पौकट 9 सुषांत गोल्फ सिटी, लखनऊ में आयोजित श्रीमद्भगवद्गीता सेमिनार (आनन्द की ओर) के आयोजन में वक्ता अपरिमेय श्याम दास जी ने कहा कि यदि हम अध्यात्मिक दृष्टि से देखें तो सभी धर्मो के ग्रंथों में समान शिक्षा दी गई है। जिस तरह कुरान के अनुसार अल्लाह ही परम् ईश्वर है, बाइबल के अनुसार ईसा मसीह ही परमेश्वर हैं, ठीक उसी प्रकार भगवत गीता के अनुसार परम् पुरूषोत्तम श्री कृष्ण ही परम ईश्वर हैं। अलग-अलग धर्मो में उनकों अलग-अलग नामों से जाना जाता है। जिस तरह सूर्य एक ही होता है लेकिन अलग-अलग जगह पर अलग-अलग भाषा में उसको अलग-अलग नाम दिया गया है। ठीक उसी तरह ईश्वर भी एक ही है। उसे अलग-अलग नामों के द्वारा पुकारा जाता है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन