दुधवा-गौरीफंटा रोड पर जंगली हाथियों ने मचाया उत्पात, मची अफरा-तफरी


लखीमपुर खीरी।


दुधवा से गौरीफंटा जाने वाली रोड पर तकरीबन डेढ़ घंटा हाथियों ने उत्पात मचाया। इस दौरान दोनों तरफ के वाहन कतार में खड़े रहे कुछ वाहन हार्न बजाते रहे लेकिन हाथी सड़क पर ही डटे रहे। जबकि जंगल के इलाके में हार्न बजाना  भी मना है। 
आपको बता दें कि भारत से नेपाल जाने वाला रास्ता दुधवा नेशनल पार्क के अंदर से होकर गुजरता है। इस दौरान जंगली हाथी समय-समय पर सड़क पर आकर यातायात रोक देते हैं। बीती शाम ऐसा ही हुआ हाथियों ने तकरीबन एक डेढ़ घंटे जाम लगाए रखा सड़क के किनारे लगे पेड़ों को हाथी अपनी सुड से झकझोरते रहे तकरीबन डेढ़ घंटे के बाद हाथी जंगल की ओर अपने के हाथियों के साथ रवाना हो गए हाथियों की संख्या प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक 70 से 80 के बीच थी प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है। झुंड में एक हाथियों का नेता था जिधर वह संकेत देता उधर ही सारे हाथी जा रहे थे। इस एक घंटे के दौरान सड़क पर अफरातफरी का माहौल रखा। हाथी चाय जंगली हो या फालतू दोनों बहुत ही खतरनाक है उनमें सबसे खतरनाक जंगली हाथी है जो टाइगर से भी ज्यादा खतरनाक है इसलिए हाथियों से हमेशा काफी दूरी बनाए रखनी चाहिए।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन