लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को मिला ‘टेक्नॉलजी सभा पुरस्कार - 2019’


लखनऊ।


लखनऊ मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लि. (एलएमआरसी) को इंडियन एक्सप्रेस समूह द्वारा टेक्नॉलजी सभा पुरस्कार-2019 के लिए चुना गया है। एलएमआरसी को 'लखनऊ मेट्रो मोबाइल ऐप' के लिए इस पुरस्कार के लिए चुना गया है। यह प्रतिष्ठित पुरस्कार सीईओ जीएसटीएन (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स नेटवर्क), प्रकाश कुमार द्वारा लखनऊ मेट्रो को 10 अगस्त को जयपुर (राजस्थान) में आयोजित एक पुरस्कार समारोह में दिया गया। 
लखनऊ मेट्रो के मोबाइल ऐप को एंटरप्राइज़ मोबिलिटी कैटेगिरी के अंतर्गत टेक्नॉलजी सभा पुरस्कार-2019 से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार उन सरकारी विभागों/एजेंसियों/संस्थानों को दिया जाता है, जिन्होंने किसी विशेष तकनीक या तकनीकों के समूह को एक नवीन एवं हितधारकों के लिए उपयोगी प्रयोग के रूप में क्रियान्वित किया हो। इस वर्ष, टेक्नॉलजी सभा पुरस्कार हेतु देशभर के सरकारी विभागों/एजेंसियों/संस्थानों की प्रविष्टियां थीं, जिसके बाद इंडियन एक्सप्रेस समूह के अनुभवी एवं प्रतिष्ठित संपादकों के एक पैनल ने नामांकनों पर विचार किया और योग्य उम्मीदवारों को पुरस्कार हेतु चुना। 
लखनऊ मेट्रो की ओर से आकाश दीप श्रीवास्तव, डीजीएम (आईटी) ने पुरस्कार ग्रहण किया। इस अवसर पर प्रबंध निदेशक, एलएमआरसी, कुमार केशव ने कहा कि, 'लखनऊ मेट्रो पूरी तरह से प्रधानमंत्री के डिजिटल इंडिया के लक्ष्य के प्रति प्रतिबद्ध है और हम यह सुनिश्चित कर रहे हैं कि प्रौद्योगिकी के माध्यम लोगों के जीवन में खुशहाली आए।
एलएमआरसी के मोबाइल ऐप में अत्याधुनिक फ़ीचरों को शामिल किया गया है। उपभोक्ता या यूज़र ऐप के माध्यम से करीबी मेट्रो स्टेशन खोजने के साथ-साथ किराए और मेट्रो स्टेशन के फ़ीचरों से संबंधित जानकारियां भी प्राप्त कर सकते हैं। मेट्रो स्टेशन से संबंधित जानकारी का चुनाव करने पर यूज़र को स्टेशन से चलने वाली पहली और आखिरी मेट्रो ट्रेन के परिचालन का समय, प्लेटफ़ॉर्म्स, प्रवेश-निकास द्वार, लिफ़्ट, एस्कलेटर आदि की जानकारियां उपलब्ध हो जाती हैं। साथ ही, स्टेशन पर संबंधित अधिकृत इकाई का नंबर, पार्किंग सुविधा और फ़ीडर सर्विस की उपलब्धता की जानकारी भी ऐप के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है। 
मेबाइल ऐप्लिकेशन 'चलो ऐप' यूएमटीसी के जर्नी प्लानर ऐप के साथ भी एकीकृत है, जो परिवहन के दूसरे उपलब्ध साधनों की मदद लेकर यात्रा को उसके अंतिम पड़ाव तक पहुंचाने में सहायता करता है। इसके अलावा इस ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ता क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड या नेट बैंकिंग के ज़रिये अपना गो-स्मार्ट कार्ड भी रिचार्ज कर सकते हैं। 
'आपका मेटो्र' शीर्षक से एक समर्पित अनुभाग यात्रियों को यात्रा के पसंदीदा मोड के रूप में मेट्रो के साथ जोड़ता है तथा उन्हें दिव्यांगों के लिए उपलब्ध सुविधाओं, सुरक्षा संबंधी सुविधाओं और अपनी स्वयं की जिम्मेदारियों के बारे में अवगत कराता है। यह यात्रियों को सुरक्षा अनुदेशों के साथ-साथ मेट्रो स्टेशनों पर तैनात विभिन्न प्रणालियों के बारे में भी सूचित करता है और आपात स्थिति में उनका उपयोग करने की प्रक्रिया की जानकारी भी देता है। विभिन्न परिस्थितियों में क्या करें और क्या न करें तथा पेनाल्टी की जानकारी भी एप्लिकेशन पर उपलब्ध हैं। यह मेट्रो सेवाओं के बारे में जनता को तत्काल सूचनाएं भी भेज सकता है। इसमें मेट्रो उपयोगकर्ताओं द्वारा अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्नों को उत्तर सहित सूचीबद्ध किया गया है। ऐप उपयोगकर्ता किसी भी मदद की आवश्यकता पड़ने पर ऐप से मेट्रो हेल्पलाइन पर कॉल भी कर सकते हैं।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन