मण्डलायुक्त-डीआईजी औचक पहुंचे सम्पूर्ण समाधान दिवस, जानी असलियत

अनुपस्थित अधिकारियों से तलब किया स्पष्टीकरण
शिकायतों को एक सप्ताह में निस्तारित करने के दिए आदेश
लापरवाही व भ्रष्टाचार के आरोप में राजस्व निरीक्षक सस्पेन्ड
चार साल में विकास कार्य न करने पर ग्राम प्रधान को नोटिस जारी करने के आदेश
गोण्डा।


मंगलवार को जिले की चारों तहसीलों में सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन हुआ। आयुक्त देवीपाटन मण्डल महेन्द्र कुमार व डीआईजी देवीपाटन परिक्षेत्र डा0 राकेश सिंह ने तहसील सदर व करनैलगंज में औचक पहुंचकर सम्पूर्ण समाधान दिवस का निरीक्षण किया तथा दोनों तहसीलों में अनुपस्थित पाए गए 11 अधिकारियों से स्पष्टीकरण तलब किया तथा लम्बित शिकायतों को एक सप्ताह के अन्दर निस्तारित करने के ओदश दिए हैं।
औचक रूप से तहसील सदर पहुंचे आयुक्त को चकबन्दी अधिकारी नवीन, बीडीओ इटियाथोक, एई आरईडी, विद्युत, लघु सिंचाई व ड्रेनेज खण्ड-2, क्षेत्रीय वनाधिकारी, एडीओ पंचायत झंझरी व रूपईडीह तथा एडीओ समाज कल्याण सहित 11 अधिकारी गैर हाजिर मिले। आयुक्त ने अनुपस्थित सभी अधिकारियों से स्पष्टीकरण तलब किया है।
वहीं जिला स्तरीय सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल की अध्यक्षता में तहसील मनकापुर में हुआ जहां पर नवागत एसपी आर0के0 नैयर व सीडीओ आशीष कुमार ने फरियादियों की शिकायतें सुनीं। मनकापुर में शिकायतकर्ता देवेन्द्र प्रसाद मिश्र निवासी जगन्नाथपुर ने डीएम को प्रार्थनापत्र देकर बताया कि उसके गांव के राजस्व निरीक्षक रमाकान्त तिवारी द्वारा पांच माह पहले से लम्बित हदबरारी के मामले में एसडीएम को रिपोर्ट नहीं दी गई और उन्होने उससे रिपोर्ट लगाने के लिए पांच हजार रूपए रिश्वत ले लिए। नाराज डीएम ने राजस्व निरीक्षक रमाकान्त तिवारी को तत्काल प्रभाव से निलम्बित करने के आदेश दिए हैं। वहीं ग्राम पंचायत मिश्रौलिया कला से आए तमाम लोगों ने डीएम व सीडीओ से शिकायत किया कि ग्राम प्रधान द्वारा पिछले तीन-चार वर्षो में मनरेगा सहित अन्य योजनाओं के तहत कोई भी काम नहीं कराया गया है जिससे गांव का विकासकार्य पूरी तरह से ठप पड़ा है। डीएम ने एीडीओ पंचायत से वहीं पर सम्बन्धित गांव में कराए गए कार्यों के कागजात मंगवाए तो ज्ञात हुआ कि वाकई प्रधान द्वारा गांव में कोई काम नहीं कराया गया जबकि पैसा पड़ा हुआ है। डीएम ने सम्बन्धित प्रधान को नोटिस जारी करने के आदेश डीपीआरओ को दिए हैं। राम प्रकश तिवारी निवासी दरियापुर छपिया ने डीएम को बताया कि कइ्र बार पैमाइश के बाद भी विपक्षियों द्वारा पत्थर उखाड़ दिया जा रहा है। डीएम ने ऐसा करने वाले विपक्षियों के खिलाफ मुकदजा दर्ज करने के आदेश एसओ छपिया को दिए हैं। राजू पुत्र जगराम निवासी सिसहनी सुकरौली थाना छपिया ने बताया कि उसे 1992 में पट्टा मिला था जिस पर वह काबिज था परन्तु गांव के ही एक व्यक्ति द्वारा उस पर अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया है। डीएम ने जांच कर विपक्षी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। बिछिया डांड़ झिनका देवी थाना खोड़ारे ने बताया कि ग्राम प्रधान द्वारा उसके खाते से शौचालय का पैसा निकलवा लिया गया है जिससे वह शौचालय नहीं बना पा रही है। डीएम ने मामले की जांच डीपीआरओ व बीडीओ को सौपी हैं। एलनपुर ग्रन्ट ने अनुग्रह राशि न मिलने की शिकायत की जिस पर डीएम ने एडीएम को तत्काल कार्यवाही करने के आदेश दिए हैं। मनकापुर में वकीलों ने नायब तहसीलदार व तहसीलदारों की पोस्टिंग कराने के लिए डीएम को प्रत्यावेदन दिया। इससे पहले डीएम ने लम्बित शिकायतों की समीक्षा किया तो ज्ञात हुआ कि तहसील मनकापुर में विगत सम्पूर्ण समाधान दिवस में प्राप्त कुल 40 शिकायतें लम्बित पाई गईं। डीएम ने लम्बित सभी शिकायतों को एक सप्ताह में निस्तारित करने के आदेश दिए।
इस दौरान एसडीएम मनकापुर बी0के0 प्रसाद, सीओ मनकापुर एस0के0 रवि, पीडी सेवाराम चैधरी, डीएसओ, डीपीआरओ, डीडी एग्रीकल्चर, जिला कृषि अधिकारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी, जिला प्रोबेशन अधिकारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी, एलडीएम, पीओ डूडा, जिला गन्ना अधिकारी, एक्सईएन जल निगम, विद्युत व नलकूप, जिला कार्यक्रम अधिकारी व अन्य उपस्थित रहे।



Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन