नगर विकास मंत्री ने की विभागीय समीक्षा बैठक 

नाले-नालियों की मरम्मत एवं सफाई कराते हुये नियमित निरीक्षण के निर्देश


लखनऊ।


स्थानीय निकाय से संबंधित सभी योजनाओं के संबंध में सभी अधिकारी अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करें एवं नियमित योजनाओं के प्रगति का अनुश्रवण करें। जिस कार्य को पूर्ण करने के लिए जितना समय नियत किया गया है उस नियत समय में उसे पूर्ण किया जाना सुनिश्चित किया जाय। इसके लिए जरूरी है कि अधिकारी नियमित रूप से कार्य की प्रगति की समीक्षा एवं मानीटरिंग करें। यह निर्देश प्रदेश के नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने आज यहां गोमती नगर स्थित स्थानीय निकाय निदेशालय के सभाकक्ष में विभागीय समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि पूरी सक्रियता के साथ यदि कार्यों की मानीटरिंग/समीक्षा नियमित रूप से की जाएगी तो काम समय से एवं पारदर्शिता के साथ संपन्न होगा इससे विभाग की छवि आमजन में उज्जवल होगी और पॉजिटिव अप्रोच के साथ परफारमेंस करने से रिजल्ट भी अच्छा आएगा और दिखेगा भी।
नगर विकास मंत्री ने स्वच्छता पर सबसे ज्यादा जन-जागरूकता एवं ट्रेनिंग कराए जाने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि स्वच्छता से ही विभाग की इमेज है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों को नाले-नालियों की मरम्मत एवं सफाई कराते हुए ड्रेनेज सिस्टम को ठीक कराए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा इस कार्य के नियमित अनुश्रवण का व्यवस्था भी की जाए। उन्होंने कहा कि नाले नालियों की सफाई का सप्ताह में एक दिन निरीक्षण अवश्य किया जाये। स्वच्छता से संबंधित विज्ञापन प्रदर्शित कर लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करें। उन्होंने निर्देश दिए स्वच्छता संबंधी विज्ञापन अच्छी इमेज वाली एजेंसियों के माध्यम से आकर्षक एवं अर्थपूर्ण डिजाइनर के विज्ञापन बनवाए जाएं और उसे प्रदर्शित किए जाएं।
श्री खन्ना ने कहा कि प्रदेश के समस्त नगर निकायों के अध्यक्ष गण एवं पार्षद गण को नगर निगम की स्थिति में नगर आयुक्त एवं नगर पालिका परिषद तथा नगर पंचायत की स्थिति में अधिशासी अधिकारीयों के माध्यम से सुरक्षित स्थान पर पौधरोपण करवाए जाएं एवं उनकी सुरक्षा का समुचित प्रबंध भी किया जाए। निकायों के निर्माण कार्यों की एक टीमे बनाकर उसकी गुणवत्ता की नियमित जांच कराई जाए। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के कार्य में लगे हुए आउटसोर्सिंग संविदा कर्मियों को उनके मानदेय पूरी पारदर्शिता के साथ डायरेक्ट उनके खाते में भेजे जाने की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि विभागीय कर्मचारियों के ट्रांसफर पोस्टिंग के लिए परफारमेंस बेस्ड पैरामीटर बनाकर लक्ष्य निर्धारित किए जाएं। निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति के आधार पर ही ट्रांसफर पोस्टिंग की जाए।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव नगर विकास मनोज कुमार सिंह, निदेशक, सूडा, निदेशक स्थानीय निकाय, प्रबन्ध निदेशक जल निगम सहित अन्य विभागीय अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे। 


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन