संयुक्त सचिव ने ग्राम पंचायत लालपुर में पंचवटी के सिद्धान्त पर किया वृक्षारोपण

गॉंव की साफ-सफाई के कार्य को और बेहतर ढंग से कराया जाय : निदेशक पंचायतीराज


लखनऊ।


पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव एपी नागर ने आज लखनऊ जनपद के मोहनलालगंज विकास खण्ड की पंचायत लर्निंग सेन्टर के रूप में स्थापित मॉडल ग्राम पंचायत लालपुर में भ्रमण किया। भ्रमण के दौरान उन्होने कहा कि ग्राम पंचायत विकास योजना के तहत मानक एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से कार्य कराये जाये इसका विशेष ध्यान रखा जाये। नागर ने मॉडल पंचायत लालपुर द्वारा ठोस एवं अपशिष्ट तरल पदार्थों के प्रबन्धन, जल संरक्षण, स्वयं सहायता समूह, स्वच्छ भारत मिशन(ग्र0) तथा वित्त आयोग की अनुदान राशि के प्रयोग से पंचायत द्वारा समेकित रूप से ग्राम पंचायत विकास योजना पर किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा की। इस अवसर पर श्री नागर ने  पंचायत में पंचवटी के सिद्धान्त पर वृक्षारोपण भी किया।
ग्राम पंचायत के भ्रमण अवसर पर ब्रह्मदेव राम तिवारी, निदेशक पंचायतीराज ने विभागीय अधिकारियों से कहा कि गॉंव की साफ-सफाई के कार्य को और बेहतर ढंग से कराया जाये इसमें किसी प्रकार की ढिलाई नही की जाये। निरीक्षण के दौरान आर0एस0 चौधरी-उपनिदेशक(पं0), एके सिंह-उपनिदेशक(पं0) के साथ खण्ड विकास अधिकारी मोहनलालगंज ज्ञानेन्द्र बहादुर, ग्राम प्रधान, लालपुर एवं मुकेश के साथ विभिन्न ग्राम स्तरीय कर्मचारी उपस्थित रहे।
ग्राम पंचायत लालपुर के निरीक्षण के पश्चात पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव एपी नागर ने अलीगंज लखनऊ स्थिति पंचायतीराज मुख्यालय में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की तथा विभाग द्वारा संचालित गतिविधियों के साथ पंचायतीराज प्रशिक्षण संस्थान (प्रिट) एवं राष्ट्रीय ग्राम स्वराज अभियान द्वारा संचालित की जा रही प्रशिक्षण एवं क्षमता संवर्द्धन गतिविधियों का अनुश्रवण भी किया गया। इस अवसर पर श्री नागर ने कहा कि विभागीय कार्यो को समयानुसार किया जाये यदि कहीं कोई समस्या आ रही है तो उसके बारे में अवगत कराया जाय। इस अवसर पर निदेशक पंचायतीराज ने विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की प्रगति के बारे में विस्तार से अवगत कराया। पंचायतों के क्षमता संवर्द्धन एवं प्रशिक्षण की दिशा में पंचायतीराज विभाग के अधिकारियों द्वारा किये जा रहे कार्यो एवं कार्यो के क्रियान्वयन में आ रही समस्याओं के बारे में अवगत कराया गया।
पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव एपी नागर ने कहा कि पंचायतों द्वारा किये जा रहे उत्कृष्ट कार्यों को सामने लाने की आवश्यकता है जिससे कि पंचायतें अन्य पंचायतों के लिए रोल मॉडल की तरह कार्य कर प्रेरणा का स्त्रोत बन सकें। उन्होंने मंत्रालय द्वारा चलाये जा रहे 24 अगस्त से संचालित जल शक्ति अभियान एवं 02 अक्टूबर से 31 दिसम्बर 2019 तक संचालित जनयोजना अभियान की विस्तृत जानकारी देते हुए पंचायतों की नियोजन में भूमिका को स्पष्ट किया गया। इसके साथ उनके द्वारा 100 दिवस कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रशिक्षित पंचायत प्रतिनिधियों एवं कर्मियों की डाटा एंट्री पर भी विशेष ध्यान आकर्षित कराया गया। प्रशिक्षण एवं क्षमता संवर्द्धन को विकास का महत्वपूर्ण पक्ष बताते हुये उन्होंने मास्टर्स ट्रेनर का रिसोर्स बेस बढाये जाने एवं उत्तम गुणवत्ता के संदर्भ साहित्य को वितरित किये जाने पर भी बल दिया।
निदेशक पंचायतीराज डा0 ब्रहमदेवराम तिवारी ने बताया कि 11 अगस्त को पंचायतीराज मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव एपी नागर द्वारा देवा विकास खण्ड जनपद बाराबंकी में पंचायत फंड मॉनिटरिंग सिस्टम (पी0एफ0एम0एस0) के लिये आयोजित प्रशिक्षण में प्रतिभाग कर ऑनलाइन भुगतान प्रक्रिया का अवलोकन किया जायेगा। पी0एफ0एम0एस0-प्रिया सॉफ्ट एप्लीकेशन में ऑनलाइन कार्ड के माध्यम से पंचायतों की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता एवं जिम्मेदारी बढेगी एवं पंचायतें अपने कार्यों के लिए ज्यादा जवाबदेह होंगी।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन