सपा ने मनायी स्व0 बी.पी. मंडल की 101वीं जयन्ती

आजमगढ़।


समाजवादी पार्टी ने पिछड़ों, गरीबों, शोषितों को संविधान के अनुसार आरक्षण का लाभ देने के लिए सन् 1978 में जनता पार्टी की सरकार में गठित आयोग के अध्यक्ष स्व0 बिन्देश्वरी प्रसाद मंडल की 101वीं जयन्ती मनाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष हवलदार यादव व संचालन महासचिव हरिप्रसाद दूबे ने किया।
जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने स्व0बी0पी0मंडल के व्यक्तित्व व कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए बताया कि स्व0 मंडल गरीबों, दलितों, शोषितों के लिए हमेंशा संघर्ष किया। इनका जन्म सन् 1918 मधेपुरा बिहार में मुरहो गॉव के जमींदार परिवार में हुआ। वे आजादी के बाद सन् 1952 में वि0स0सदस्य बने। सन् 1968 में अविभाजित बिहार प्रदेश के पिछड़े वर्ग के प्रथम मुख्यमंत्री हुए। उन्होंने शोषितों की लड़ाई लड़ने के लिए मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।
विधायक डा0संग्राम यादव ने कहा कि सन् 1990 में जनता दल की सरकार ने मंडल कमीशन की रिपोर्ट के अनुसार 27 प्रतिशत पिछड़ों को आरक्षण देने का फैसला किया तो जनता दल के सहयोगी सरकार में शामिल भाजपा ने आरक्षण का विरोध करने के लिए लालकृष्ण आडवाणी के नेतृत्व में कमण्डल लेकर साम्प्रदायिकता का जहर बोकर अयोध्या में मंदिर बनाने का नाटक किया। समाजवादी पार्टी पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों, शोषितों के हितों के लिए हमेंशा संघर्ष किया है।
विधायक कल्पनाथ पासवान ने कहा कि आज देश में अराजकता का वातावरण है। भाजपा तानाशाह हिटलर की तरह काम कर रही है। लोकतंत्र व संविधान खतरे में है। धर्म व जाति के नाम पर नफरत पैदाकर देश की एकता को चोट पहुॅचा रही है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन