सी0एफ0सी0 में एस0पी0वी0 के गठन हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित

उन्नाव 


जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय के निर्देशन में उपायुक्त उद्योग, जिला उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन केन्द्र, द्वारा अवगत कराया गया कि उ0प्र0 सरकार द्वारा संचालित ''एक जनपद एक उत्पाद'' सामान्य सुविधा केन्द्र (सी0एफ0सी0) योजना के अन्तर्गत जरी-जरदोजी क्लस्टर जिसमें 1-टेस्टिंग लैब, 2-डिजाइनिंग डेवलफमेंट एण्ड टेªनिंग सेंटर, 3-तकनीक अनुसंधान एवं विकास केन्द्र,  4-उत्पाद प्रर्दशन सह विक्रय केन्द्र, 5-राॅ-मटेरियल बैंक/कामन रिसोर्स सेन्टर, 6-कामन प्रोडक्शन/प्रोसेसिंग सेन्टर, 7-कामन लाजिस्टिक्स सेन्टर, 8-सूचना संग्रह, विश्लेषण एवं प्रसारण केन्द्र,  9-पैकेजिंग, लैबलिंग एवं बारकोडिंग की सुविधाएं होगी की सी0एफ0सी0 में एस0पी0वी0 के गठन हेतु आवेदन पत्र आमंत्रित किये जाते हंै। 
उपायुक्त उद्योग ने एस0पी0वी0 की अर्हताओं के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि संस्था में न्यूनतम 20 सदस्य होने चाहिए। कुल सदस्यों में न्यूनतम दो तिहाई सदस्य ओ0डी0ओ0पी0 उत्पाद से सम्बंधित होने चाहियें। संस्था सक्षम पंजीयन प्राधिकारी के यहां पंजीकृत होना चाहिये। संस्था के संविधान में सम्बन्धित उत्पाद से जुड़े हुए हित धारकों तथा राज्य सरकार के एक प्रतिनिधि को सदस्य के रूप में शामिल करने के शुस्पष्ट प्राविधान होनें चाहियें। संस्था के किसी भी सदस्य के पास संस्था के कुल शेयरों में से 10 प्रतिशत से अधिक शेयर नहीं होना चाहियें। योजनान्तर्गत स्वीकृत की जाने वाली परियोजनाओं के संचालन, प्रबंधन एवं रख-रखाव का दायित्व सम्बंधित एस0पी0वी0 का होगा तथा इनके संचालन, प्रबंधन एवं रख-रखाव पर आने वाली किसी भी प्रकार के आर्वती व्यय इस योजनान्तर्गत वहन नहीं किए जायेगें। अवधारणत्मक टिप्पणी (कान्सेप्ट नोट) के साथ सम्बंधित फार्म जमा करेगें। परियोजना हेतु समुचित विनिर्दिष्ट प्रयोजन हेतु उपयुक्त तथा भार विवाद रहित भूमि उपलब्ध कराने का दायित्व सम्बंधित एस0पी0वी0 का होगा। परियोजना की स्थापना हेतु प्रस्तावित भूमि या तो एस0पी0वी0 के स्वामित्वाधीन होगी अथवा न्यूनतम 15 वर्षो हेतु लीज पर ली जा सकेगी। परियोजना लागत में भूमि की लागत किसी भी दशा में 25 प्रतिशत से अधिक आंकलित नहीं की जाएगी भूमि की लागत में उक्त सीमा से अधिक व्यय भार एस0पी0वी0 द्वारा वहन किया जाएगा। एस0पी0वी0 द्वारा भूमि को राज्य सरकार के पक्ष में न्यूनतम 15 वर्षों तक बंधक रखना होगा। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए इच्छुक आवेदक कार्यालय, जिला उद्योग एंव उद्यम प्रशिक्षण केन्द्र, उन्नाव (निकट, कानपुर-लखनऊ बाईपास रोड, मिर्जा इण्टर नेशनल के सामने) दिनांक 05 सितम्बर 2019 तक आवेदन पत्र प्राप्त कर जमा करना सुनिश्चित करें।  


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन