07 साल में बॉर्डर पर हुई 6,942 फायरिंग, 90 सुरक्षाकर्मी शहीद, 454 घायल

लखनऊ।


गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा दी गयी सूचना के अनुसार वर्ष 2013 से अगस्त 2019 के बीच जम्मू एवं कश्मीर के लाइन ऑफ़ कंट्रोल तथा अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर 6942 क्रॉस बॉर्डर गोलीबारी तथा सीजफायर उल्लंघन की घटनाएँ हुई हैं।
दरअसल, एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने 2013 से अब तक पाकिस्तान द्वारा अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर किये गए हमलों तथा गोलीबारी एवं इन घटनाओं में शहीद तथा घायल हुए सुरक्षाकर्मियों की सूचना मांगी थी।
गृह मंत्रालय की जन सूचना अधिकारी सुलेखा द्वारा दी गयी सूचना में यह भी बताया गया कि इस अवधि में सेना तथा सीमा सुरक्षा बल के 90 सुरक्षाकर्मी शहीद हुए जबकि 454 घायल हुए। सबसे अधिक 2140 हमले वर्ष 2018 में हुए, जबकि अगस्त 2019 तक 2047 तथा वर्ष 2017 में 971 हमले हुए। वर्ष 2013 में 347 तथा वर्ष 2014 में 583 हमले हुए थे।
सूचना में बताया गया है कि सर्वाधिक 145 सुरक्षाकर्मी (29 शहीद तथा 116 घायल) वर्ष 2018 में हताहत हुए थे, जिसके बाद वर्ष 2016 में 112 सुरक्षाकर्मी एवं वर्ष 2017 तथा 2019 में अब तक 91 सुरक्षाकर्मी हताहत हुए। वर्ष 2013 में 38 तथा 2014 में 33 सुरक्षाकर्मी हताहत हुए थे।


 


Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन