आयुष्मान भारत प्रधानमन्त्री जनआरोग्य योजना

गोल्डन कार्ड शिविर आयोजन


उन्नाव


मुख्य चिकितसाधिकारी डा0 कामेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि आयुष्मान भारत प्रधानमन्त्री जी एंव मुख्यमन्त्री जी की एक जन कल्याणकारी एंव जनोपयोगी योजना है। इस योजना के अन्तर्गत लाभार्थी परिवारों को प्रति वर्ष रू0 5 लाख की निःशुल्क चिकित्सा सुविधा प्रदान की जा रही है। लाभार्थी परिवारों को दिनंाक 21 सितम्बर से 20 अक्टूबर तक आयोजित शिविरों में इनपैनलड सरकारी, निजी चिकित्सालयों एंव कामन सर्विस सेेण्टर के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाये जायेगें। शिविर आयोजन के सम्बन्ध में जानकारी देते हुये जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय ने सभी उप जिलाधिकारी एंव खण्ड विकास अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अपनी अध्यक्षता में दिनंाक 21 सितम्बर 2019 को अपरान्ह से सभी ब्लाकों में गोल्डन कार्ड बनाने की योजना बैठक सुनिश्चित करायें। बैठक में सभी ब्लाकों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी अपने अधीनस्थ आरोग्य मित्र, ब्लाक कम्यूनिटी प्रोसेस मैनेजर एंव सभी ग्राम प्रधान व सचिव प्रतिभाग करेगें।
जिलाधिकारी महोदय ने निर्देशित किया है कि शिविर आयोजन की निर्धारित तिथियों में सम्बन्धित अधिकारी अपने ब्लाक क्षेत्र के निर्धारित ग्राम पंचायतों में कामन सर्विस सेण्टर के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनवायेगें। कामन सर्विस सेण्टर द्वारा प्रति गोल्डन कार्ड बनाने हेतु निर्धारित शुल्क रू0 30 प्रति लाभार्थी से लिया जायेगा। ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित होने से लाभार्थी को सामु0/प्रा0स्वा0केन्द्र या जिला चिकित्सालय आना नहीं पडेगा जिससे उनका आर्थिक बचत होगा। इसके अलावा इनपैनलड 11 सरकारी चिकित्सालयों एंव 26़ निजी चिकित्सालयों में प्रतिदिन गोल्डन कार्ड निःशुक्ल बनाये जायेगें। प्रति ब्लाक प्रतिदिन 300 गोल्डन कार्ड बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 कामेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि जनपद में प्रधानमन्त्री जनआरोग्य योजना के कुल लाभार्थी परिवारों की संख्या 254468 एंव मुख्यमन्त्री जनआरोग्य योजना के कुल लाभार्थी परिवारों की संख्या 49903 है। जिसके सापेक्ष अब तक 63000 गोल्डन कार्ड बनाये गये है जिसमें राजकीय चिकित्सालयों में 38500, निजी चिकित्सालय में 7700 एंव कामन सर्विस सेण्टर से 16800 गोल्डन कार्ड बनाये गये है। उन्होनें कहा कि एक माह तक आयोजित कियो जा रहे गोल्डन कार्ड शिविर में शत-प्रतिशत लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाने का लक्ष्य पूर्ण करने का हर सम्भव प्रयास किया जायेगा। उन्होनें सभी पात्र लाभार्थी परिवारों से अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा संख्या में शिविर में पहुॅचकर योजना का लाभ उठाये।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन