बसपा के पूर्व प्रदेश और जिला अध्यक्ष अपने समर्थकों संग सपा में शामिल

लखनऊ।


समाजवादी पार्टी की नीतियों और राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व में आस्था जताते हुए
बहुजन समाज पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा पाल महासभा उ.प्र. के अध्यक्ष दयाराम पाल, बिहार और छत्तीसगढ़ प्रदेश के प्रभारी तथा बलिया में बसपा के कई बार जिलाध्यक्ष तथा जिला प्रभारी रहे मिठाई लाल भारती शुक्रवार को अपने समर्थकों संग बसपा छोड़कर समाजवादी पार्टी में शामिल हो गए। पार्टी मुख्यालय में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में शामिल दोनों नेताओं ने कहा कि वे अनुशासित सिपाही के रूप में काम करेंगे और सन् 2022 में भाजपा को बेदखल कर अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए संकल्पबद्ध हैं।
अखिलेश ने बसपा से आए नए साथियों का स्वागत करते हुए कहा है कि इनके आने से पार्टी को मजबूती मिलेगी। उत्तर प्रदेश सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। हम बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर, डॉ0 राममनोहर लोहिया और मान्यवर कांशीराम के रास्ते पर चलकर परिवर्तन लाने का काम करेंगे।
इस अवसर पर दयाराम ने कहा कि वह बसपा मुखिया मायावती पर कोई टिप्पणी नहीं करेंगे लेकिन उन्होंने कहा कि बसपा अब अंबेडकर और कांशीराम की दिशा में नहीं चल रही है।
दयाराम पाल के तीनों बेटे युवा पाल महासभा के प्रदेश अध्यक्ष वीरेन्द्र पाल, एडवोकेट, विजय बहादुर पाल एडवोकेट ने जिला प्रभारी बसपा मऊ तथा कृष्णकन्हैया पाल ने भी अपने तमाम साथियों के साथ समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन