डीएम की अध्यक्षता में आयोजित हुई जिला स्वच्छता समिति की बैठक


लखीमपुर खीरी।


डीएम शैलेन्द्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) योजनान्र्तगत जिला स्वच्छता समिति की बैठक आयोजित हुई। बैठक के एजेण्डा बिन्दु स्वच्छता ही सेवा ही विस्तारपूर्वक चर्चा कर निर्णय लिया गया कि ग्राम पंचायतों में एक बार उपयोग (सिंगल यूज) होने वाले वाली प्लास्टिक के उपयोग पर ग्राम पंचायत/राजस्व ग्राम/मजरों में न प्रयोग किये जाने हेतु समस्त ग्राम प्रधान गणों की जनपद स्तर पर तहसील वार गोष्ठी का आयोजन किया जाय। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने उपस्थित डीआईओएस को निर्देशित किया कि जूनियर एवं सीनियर स्तर के छात्र छात्राओं के मध्य प्लास्टिक प्रयोग न किये जाने एवं जैविक तथा अजैविक कचरे के प्रबन्धन पर चित्रकला एवं निबन्ध प्रतियोगिताका आयोजन किया जाय। विजेताओं को जिला स्वच्छता समिति के माध्यम से तहसील व जनपद स्तर पर सम्मानित भी किया जाय। साथ ही एजेण्डा बिन्दु दो ओडीएफ के स्थायित्वके सम्बन्ध में समस्त उपस्थित सदस्यों से चर्चा की गई। चर्चा के दौरान अधिकांश सदस्यों के द्वारा समिति के समक्ष सुझाव रखा गया कि अन्य गतिविधियों के साथ साथ खुले में शौचमुक्त के स्थायित्व हेतु जनपद के ईटा भट्ठों, प्लाईवुड फैक्ट्री, राइस मिल केशर आदि संस्थानों में कार्यरत कर्मचारियों के लिए शौचालय तथा मूत्रालय की व्यवस्था न होने के कारण कर्मचारियों को खुले में शौच हेतु जाना पड़ता है। उक्त के क्रम में जिलाधिकारी ने डीपीआरओ को निर्देशित किया कि उनके स्तर से आवश्यक कार्यवाही हेतु पत्रावली प्रस्तुत करे। साथ ही समिति द्वारा यह भी निर्णय लिया गया कि जिन ग्राम पंचायतों को राजस्वग्राम/मजरे को सर्वप्रथम प्लास्टि मुक्त घोषित किया जायेगा, उन ग्राम पंचायतों को प्राथमिकता के आधार पर एस.एल.डब्लूएम के अन्र्तगत चयनित कर धनराशि आंवटित की जायेगी। बैठक में सीडीओ रवि रंजन, डीआईओएस डाॅ0 आरके जायसवाल, जिला कार्यक्रम अधिकारी, अधिशाषी अभियंता जल निगम, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जनपद परियोजना समन्वयक, जिला कन्सल्टेंट स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) एवं ग्राम प्रधान ग्राम पंचायत मन्यौरा एवं ग्राम पंचायत छाउछ उपस्थित रहे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन