देश का हर नागरिक चीन के समान का उपयोग न करने का ले संकल्प : यशवंत

लखनऊ।


विधानपरिषद सदस्य यशवंत सिंह ने कहा है कि चीन निर्मित सामान बहिष्कार आन्दोलन महात्मा गाँधी के स्वदेशी विचार का ही एक रूप है। इसका सम्पूर्ण रूप है  केवल स्वदेशी के बल पर समृद्ध एवं सशक्त भारत का निर्माण। उन्होंने बताया कि 21 सितम्बर को चीन निर्मित समान बहिष्कार मार्च एवं संकल्प सभा की तैयारी पूरी हो चुकी है।
यशवंत ने आईपीएन को दिये अपने बयान में कहा कि भारत सरकार का मेक इंडिया और उत्तर प्रदेश सरकार का वन डिस्टिक-वन प्रोडक्ट इस दिशा में अनुकरणीय प्रयास है लेकिन यह कार्य केवल सरकार के भरोसे जल्द मूर्त रूप नहीं पा सकता। इसके लिए जरूरी है कि देश का हर नागरिक फैसला ले कि वह किसी भी कीमत पर चीन के समान का उपयोग नहीं करेगा और अन्य विदेशी सामानों के उपयोग से भी बचेगा।
यशवंत ने कहा कि चीन भारत के एक बड़े भूभाग पर काबिज तो है ही, वह लगातार भारत में आतंक प्रयोजित करने वाले पाकिस्तान का साथ दे रहा है जबकि उसकी आर्थिक इमारत हमारी खरीद पर खड़ी है। हम चीन निर्मित सामानों का बहिष्कार कर चीन की आर्थिक बुनियाद हिला दें तो उसे अपने किए की सजा मिल जाएगी और इस देश की युवा पीढ़ी के लिए हर क्षेत्र में रोजगार के अवसर सृजित होंगे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन