‘‘खादी महोत्सव-2019’’ का आयोजन 02 अक्टूबर से

लखनऊ।


खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने शनिवार को आयोजित प्रेस कांफ्रेस में कहा कि महात्मा गाॅधी की 150वीं जयन्ती के अवसर पर ''खादी महोत्सव-2019'' का आयोजन 02 से 13 अक्टूबर तक इन्दिरा गाॅधी प्रतिष्ठान में आयोजित किया जाना प्रस्तावित है। इस आयोजन में विभाग द्वारा विभिन्न कार्यक्रम होने हैं।
मंत्री ने बताया कि 02 अक्टूबर को महात्मा गाॅधी की 150वीं जयन्ती के अवसर पर ''खादी महोत्सव-2019'' का उदघाटन् एवं खादी प्रदर्शनी का अवलोकन किया जायेगा। गत वर्ष 70 स्टाल लगाकर तीन दिवसीय प्रदर्शनी का आयोजन किया गया था, जिसमें 85.00 लाख से अधिक की बिक्री प्रतिभागियों द्वारा की गयी। वर्तमान वर्ष में 100 स्टाल लगाये जा रहे है तथा प्रदर्शनी की अवधि 11 दिन निर्धारित की गयी है जिसमें उ0प्र0 के अतिरिक्त अन्य प्रदेश की इकाइयों द्वारा प्रतिभाग करने के साथ-साथ अपने उत्कृष्ट उत्पादों का प्रदर्शन भी किया जायेगा। इसके अतिरिक्त गत वर्ष की भाॅति इस वर्ष भी खादी तथा ग्रामोद्योगी उत्पादों के प्रचार-प्रसार, एवं जागरूकता तथा बिक्री के उद्देश्य से उ0प्र0 राज्य के 18 मण्डलों में प्रदर्शनियों  का आयोजन भी किया जा रहा है।
मंत्री ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में 1000 सोलर चर्खो के सापेक्ष 02 अक्टूबर को महात्मा गाॅधी की 150वीं जयन्ती के अवसर पर मुख्यमंत्री के द्वारा साकेंतिक रूप से 100 चर्खो का वितरण किया जायेगा, जिससे 2269 कामगार लाभान्वित होगें। एमडीए योजनान्तर्गत 10 खादी इकाइयों को रू0 38.97 लाख के दावों का भुगतान किया जा रहा है, जिसमें धनराशि रू0 13.25 लाख प्रोत्साहन बोनस के रूप में 2269 कतिनो/बुनकरों को लाभ होगा तथा धनराशि सीधे खाते में स्थानान्तरित की जायेगी। गत वर्ष में 61 पात्र इकाइयों को रू0 430.00 लाख एमडीए दावों का भुगतान किया गया। इसके अतिरिकत 34 संस्थाओं को 70.00 लाख, 5 प्रतिशत विशेष छूट के दावों का भुगतान भी किया गया।
बताया कि वर्ष 2019-20 में 1875 विद्युत चालित चाक वितरित करने का लक्ष्य है, जिसकी शुरूवात 2 अक्टूबर के कार्यक्रम में मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा 95 लाभार्थियों को विद्युत चालित चाक का वितरण करके किया जायेगा। इस अवसर पर माटी कला का क्रियात्मक प्रदर्शन एवं आधुनिक घरेलू उपयोग में आने वाले मिटट्ी से बने बर्तनों व सजावट के समानो का प्रदर्शन भी इस प्रदर्शनी मंे किया जायेगा। कार्यक्रम में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के 15 लाभार्थियों को स्वीकृति पत्र वितरित किये जायेगें। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजना एवं पं0 दीनदयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजना के 15-15 लाभार्थियों को चेक भी प्रदान किये जायेगे।
मंत्री ने बताया कि इस अवसर पर देश एवं राज्यों से आये विशेष गणमान्य अतिथियों द्वारा खादी तथा ग्रामोद्योगी विषय पर विशेष व्याख्यान एवं कार्यशाला का आयोजन भी किया जायेगा। खादी तथा ग्रामोद्योगी क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली इकाइयों की सफलता की कहानी से सम्बन्धित फिल्म का प्रदर्शन भी किया जायेगा।
मंत्री ने बताया कि 12 अक्टूबर की शाम में खादी के आधुनिक परिधानों का भब्य फैशन-शो आयोजित किया जायेगा, जिसमें निफट व देश-विदेश में ख्याति प्राप्त फैशन डिजाइनरों द्वारा तैयार किये गये परिधानों का प्रदर्शन फेमिना मिस इण्डिया, नई दिल्ली से आये माडलों द्वारा किया जायेगा। बताया कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम अन्तर्गत वर्ष 2019-20 में 2,578 इकाइयों को रू0 77.32 करोड़ का मार्जिन मनी प्रदान करने का लक्ष्य है, जिससे रू0 231.96 करोड़ के पॅूजी निवेश एवं 20624 लोगो को रोजगार प्रदान किया जायेगा। वर्तमान चालू वित्तीय वर्ष में अभी तक लगभग 100 करोड़ के ऋण स्वीकृत किये गये तथा विभिन्न ग्रामोद्योगी इकाइयों की स्थापना करायी जा चुकी है।
मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत अब तक 809 इकाइयों के स्थापना हुई है, जिससे रू0 4215.07 लाख का पूॅजी निवेश के साथ ही 16863 लोगो को रोजगार प्राप्त हुआ है। इस वर्ष 800 इकाइयों की स्थापना का लक्ष्य है, जिससे रू0 4000.00 लाख के पूॅजी निवेश होने के साथ ही 16000 लोगो को रोजगार प्रदान किया जायेगा।
मंत्री ने बताया कि प0 दीनदयाल ग्रामोद्योग रोजगार योजनान्तर्गत शासन द्वारा धनराशि रू0 500.00 लाख का बजट आवंटन किया गया है। जिसमें से शासन द्वारा उपलब्ध रू0 250.00 लाख में से मा0 मुख्य मंत्री जी द्वारा उक्त कार्यक्रम में 61.00 लाख का अनुदान वितरण कराया जायेगा। जनपदीय अधिकारियों द्वारा 61.00 लाख का व्यय करते हुए योजना का लाभ लाभार्थियों को प्रदान किया गया।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन