खेत में लगे तार में फसने से जंगली नर हाथी की मौत

लखीमपुर खीरी।

दुधवा टाइगर रिजर्व के जनपद लखीमपुर खीरी अंतर्गत खैरटिया गांव में एक नर हाथी की मौत हो गई है। लेकिन मामला नार्थ खीरी के बेलरायां और बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज के सीमा विवाद में उलझा हुआ है। खीरी के खैरटिया गांव का कुछ हिस्सा बहराइच के कतर्नियाघाट रेंज में आता है। ऐसे में नेपाली हाथियों का झुंड कतर्नियाघाट के जंगल से अक्सर खैरटिया गांव में रेलवे लाइन पार करके पंहुच जाता है।
आज सुबह वन विभाग कतर्नियाघाट के वनकर्मियों को सूचना मिली कि रेलवे की पिलर संख्या 1775 के निकट ट्रैक से सटे हुए किसान जागीर सिंह पुत्र महेन्द्र सिंह के खेत में एक नर हाथी मृत हालत में पड़ा हुआ है। नर हाथी का सूंड और मुंह खेत में लगे डीसी करंट तार में फसा हुआ था। ग्रामीणों का कहना है कि जंगली नर हाथी का शव एक दिन पहले से पड़ा हुआ है।
मौके पर पंहुचे कतर्नियाघाट एसडीओ यशवंत सिंह ने बताया कि मामला संदिग्ध है। ऐसे में फील्ड डायरेक्टर संजय पाठक को मामले से अवगत कराया गया है। पोस्टमार्टम के बाद ही मृत्यु का कारण पता चल पाएगा।
इस मौके पर नॉर्थ खीरी डीएफओ मनोज सोनकर, वन क्षेत्राधिकारी बेलरायां खीरी दिनेश भंडोला, वन क्षेत्राधिकारी कतर्नियाघाट पीयूष मोहन श्रीवास्तव, मयंक पांडे, कौशल किशोर सिंह आदि मौजूद रहे।

Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन