क्या यही है स्वतंत्रता सैनानियों के सपनों का भारत? : अखिलेश

लखनऊ।


समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने स्वतंत्रता के पूर्व और पश्चात उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री और केंद्र में गृहमंत्री रहे पं0 गोविन्द वल्लभ पंत की 132 वीं जयंती पर मंगलवार को विधान भवन के सामने स्थित भारत रत्न पंत जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रंद्धासुमन अर्पित किए। श्री यादव ने कहा कि पंत जी ने स्वतंत्रता आंदोलन में बड़ी भूमिका निभाई थी। उन्होंने समाज सुधार के कार्यो के साथ प्रदेश के विकास को भी गति दी।
अखिलेश ने कहा कि स्वतंत्रता आंदोलन के दौर में जो मूल्य स्थापित हुए थे, भाजपा द्वारा आज उनको भुलाया जा रहा है। भारत का जो सपना तब देखा गया था उस सपने की हत्या हो रही है। भाजपा राज में लोकतंत्र को खतरा है और आम नागरिकों को अपमानित किया जा रहा है। समाज में भाईचारा खतरे में है। भाजपा राज में विकास थम गया है। जनता के साथ छल किया गया है। भाजपा जन भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही है। देश की सीमाएं खतरे में है। हमारी आजादी खतरे में है।
श्री यादव ने कहा राजनीतिक लोगों को जानबूझकर बदनाम किया जा रहा है। किसान के घर में खुशहाली नहीं है। वह सबसे ज्यादा परेशान है। नौजवान बेरोजगार है। डालर के मुकाबले रूपया नीचे चला गया है। हमारी अर्थव्यवस्था गर्त में जा रही है।
अखिलेश ने कहा कि भाजपा राज में झूठे मुकदमों की बाढ़ आ गई है। रामपुर में झूठे मुकदमे कायम किए जा रहे है। कानून व्यवस्था की हालत बहुत खराब है। लोगो में असुरक्षा की भावना है। महिलाएं बच्चियां तक दुष्कर्म की शिकार हो रही है। भाजपा सरकार ने राज्य की जनता के साथ छल किया है। क्या यही है स्वतंत्रता सैनानियों के सपनों का भारत?


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन