मंत्रिमंडल ने महानिदेशक स्कूल शिक्षा (डीजीएसई) के पद के सृजन को दी मंजूरी

लखनऊ।


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को सम्पन्न हुई मंत्रिमंडल ने महानिदेशक स्कूल शिक्षा (डीजीएसई) के पद के सृजन को मंजूरी दी है। इसके चलते बुनियादी शिक्षा के विभिन्न निदेशालयों में बेहतर तालमेल और अलग-अलग निदेशालयों की ओर से जारी कार्यक्रमों में तेजी आएगी।
सरकार के प्रवक्ता श्रीकांत शर्मा ने प्रेसवार्ता में बताया कि मंत्रिपरिषद ने बेसिक शिक्षा विभाग के अन्तर्गत समस्त निदेशालयों व उनके अधीन कार्यरत अधिकारियों/कर्मचारियों पर कार्यकारी, प्रशासनिक एवं वित्तीय नियंत्रण (जो शासन द्वारा समय-समय पर प्रतिनिधानित किये जाएंगे) तथा बेसिक शिक्षा विभाग में संचालित महत्वपूर्ण योजनाओं के त्वरित गति से क्रियान्वयन, प्राथमिक शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार एवं शिक्षकों की दक्षता के लिए महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डीजीएसई) के पद सृजन को मंजूरी दी है। कैबिनेट ने इस पद पर भारतीय प्रशासनिक सेवा के सचिव स्तर से अनिम्न/राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा अभियान के समकक्ष स्तर के अधिकारी को तैनात किये जाने सम्बन्धित प्रस्ताव को अनुमोदित कर दिया है।
महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डीजीएसई) के वेतनमान के सापेक्ष अनुमन्य वेतन/भत्तों हेतु आय-व्ययक की व्यवस्था बेसिक शिक्षा विभाग के मानक मदों के अन्तर्गत की जाएगी। मंत्रिपरिषद ने भविष्य में स्कूल शिक्षा (डी0जी0एस0ई0) सम्बन्धी पद सृजन, अधिकार एवं कर्तव्य आदि के निर्णय के परिप्रेक्ष्य में किसी प्रकार के तकनीकी संशोधन हेतु मुख्यमंत्री जी को अधिकृत किये जाने के प्रस्ताव को भी मंजूरी प्रदान की है।
इस निर्णय के अनुसार बेसिक शिक्षा विभाग के प्रशासनिक नियंत्रणाधीन 05 निदेशालयों क्रमशः शिक्षा निदेशक (बेसिक), निदेशक साक्षरता, वैकल्पिक शिक्षा, उर्दू एवं प्राच्य भाषाएं, राज्य परियोजना निदेशक समग्र शिक्षा अभियान, निदेशक मध्यान्ह् भोजन प्राधिकरण एवं निदेशक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद सहित सचिव बेसिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज एवं परीक्षा नियामक प्राधिकारी, प्रयागराज पर प्रभावी प्रशासनिक नियंत्रण तथा विभाग में संचालित महत्वपूर्ण योजनाओं को त्वरित गति से संचालन एवं प्राथमिक शिक्षा के स्तर में गुणात्मक सुधार महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डी0जी0एस0ई0), जो भारतीय प्रशासनिक सेवा के विशेष सचिव के स्तर से अनिम्न/राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा अभियान के समकक्ष स्तर का अधिकारी होगा, के द्वारा किया जाएगा।
महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डी0जी0एस0ई0) इन सभी का प्रशासकीय नियंत्रक होगा तथा इन सभी के मध्य सेतु का कार्य करते हुए समस्त निदेशालयों पर अपना प्रभावी प्रशासकीय नियंत्रण रखते हुए इन सभी के मध्य बेहतर समन्वय स्थापित करेंगे तथा शासन द्वारा वित्त विभाग की सहमति से वित्तीय नियंत्रण सम्बन्धी, जो कार्य समय-समय पर सौंपे जाएंगे, उनका भी कार्यान्वयन किया जाएगा।
महानिदेशक, स्कूल शिक्षा (डी0जी0एस0ई0) इन सभी के स्तर पर संचालित विभिन्न विभागीय योजनाओं/कार्यों की नियमित रूप से समीक्षा करेंगे तथा यथावश्यक नीतियों के क्रियान्वयन का कार्य करते हुए इन सभी के कार्यों का प्रभावी पर्यवेक्षण करेंगे। साथ ही, इन समस्त निदेशालयों के नीति-निर्माण हेतु समेकित डाटा विश्लेषण का कार्य भी करेंगे।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन