नहर की लम्बित परियोजनाओं को जल्द से जल्द पूरा कराएं अधिकारी: जन शक्ति मंत्री

गोण्डा।


प्रदेश के जल शक्ति विभाग के मंत्री डा0 महेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को सर्किट हाउस में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर विभाग द्वारा संचालित विभिन्न परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा की तथा अधिकारियों को स्पश्ट निर्देश दिए कि प्रदेश में विभाग की छवि को नम्बर एक पर लाना है। इसके लिए सभी अधिकारी पूरे मनोयोग के साथ संचालित परियोजनाओं को पूरी पारदर्शिता के साथ निर्धारित समयावधि में पूरा कराएं। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि प्रदेश सरकार भ्रश्टाचार को लेकर जीरो टालरेन्स पर काम कर रही है इसलिए इस बात का विशेश ध्यान रखें कि कहीं भी गड़बड़ी न होने पावे अन्यथा कठोर कार्यवाही की जाएगी।
सर्किट हॅाउस में आयोजित विभागीय समीक्षा बैठक में मंत्री ने सभी सिंचाई विभाग के अधिकारियों से मण्डल व जनपद में संचालित परियोजनाओं की परियोजनावार प्रगति के बारे में जानकारी ली। अधीक्षण अभियन्ता जल शक्ति विभाग देवीपाटन मण्डल द्वारा बताया गया कि मण्डल में कुल 1696.18 किलोमीटर लम्बी नहर का काम किया जाना लक्षित हैै जिसके सापेक्ष मात्र 26.55 किलोमीटर का काम शेश बचा है तथा गोण्डा में 235 नहरों के सापेक्ष 127 नहरों में पानी पहंुंचाया जा रहा है। नहरों की सफाई की समीक्षा के दौरान उन्होंने निर्देश दिए कि जहां-जहां नहरों की सफाई कराई जाय वहंा पर अनिवार्य रूप से कार्य का नाम, लागत, कार्य कराने वाले अधिकारी का नाम, पदनाम, मोबाइल नम्बर आदि का बोर्ड लगवाया जाय जिससे गांव के लोग भी कार्यों से अवगत हो सकें।
मंत्री ने बैठक में नहर विभाग के अधिकारियों को साफ शब्दों में निर्देश दिए कि सरकार सभी नहरों में टेल तक पानी पहंुचाने के लक्ष्य पर काम कर रही है। विभागीय अधिकारी इससे अवगत होते हुए यह सुनिश्चित करें कि कोई भी नहर ऐसी न बचे, जहां पर पानी की आपूर्ति शेश रह जाय। फील्ड में काम करने वाले अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे बिना किसी देरी के अब फील्ड में जाना शुरू कर दें तथा यह सुनिश्चित कराएं कि कहीं भी अधोमानक कार्य न होने पावे। सिचंाई विभाग के गेस्ट हाउस को अपग्रेड कराते हुए वहां पर एक हफ्ते के अन्दर सीसीटीवी कैमरे अनिवार्य रूप से लगवाने के निर्देश दिए हैं। नहर विभाग की जमीनों पर अवैध कब्जे की समीक्षा में ज्ञात हुआ कि नहर विभाग की 40 हेक्टेयर जमीन पर अवैध कब्जा है। इस पर उन्होंने निर्देश दिए कि नहर विभाग की सभी जमीनों से अवैध कब्जे तुरन्त हटवाएं जाएं तथा कब्जा करने वाले लोगों के खिलाफ विधिक कार्यवाही भी की जाय। उन्होंने अब तक कब्जा मुक्त कराई गई जमीन का भी ब्यौरा विभागीय अधिकारियों से मांगा है।
नलकूप विभाग की समीक्षा में अधिकारियों द्वारा बताया गया कि मण्डल में कुल 1858 नलकूप संचालित हैं जिनमें से 565 नलकूप जनपद गोण्डा में हैं। मण्डल में 41 तथा जनपद गोण्डा में 20 नलकूप खराब हैं जिन्हें एक सप्ताह के अन्दर ठीक कराने के निर्देश अधीक्षण अभियन्ता को दिए हैं। बाढ़ की समीक्षा में एक्सईएन बाढ़ द्वारा बताया गया कि बाढ़ आने पर गोण्डा में लगभग एक लाख की आबादी प्रभावित होने की संभावना रहती है। इसी प्रकार लघु सिंचाई की समीक्षा में यह शिकायत बताई गई कि विभाग द्वारा कोलाबे में अधोमानक पाइपें लगाई गई हैं जिससे डैमेज के कारण जलापर्ति ठीक से नहीं हो पा रही है। इस पर उन्होंने सख्त निर्देश दिए हैं कि मानक का विचलन कहीं भी पाए जाने पर सीधे कार्यवाही की जाएगी। बैठक में विधायक सदर प्रतीक भूशण सिंह ने अन्तर्राश्ट्रीय पार्वती अरंगा पक्षी विहार को नहर से जोड़ने के लिए लिखित प्रस्ताव दिया जिस पर मा0 मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं।
बैठक में मा0 विधायक सदर प्रतीक भूशण सिंह, तरबगंज प्रेम नरायण पाण्डेय, कटरा बाजार श्री बावन सिंह, जिलाध्यक्ष पीयूश मिश्र, सांसद प्रतिनिधि संजीव सिंह, विधायक प्रतिनिधि अजय सिंह व मनोज तिवारी सहित जल शक्ति विभाग, बाढ़, नलकूप, लघु सिंचाई विभाग के अधीक्षण व अधिशासी अभियन्ता मौजूद रहे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन