फर्जी रिपोर्टिंग करने पर डीपीआरओ व अधीक्षण अभियन्ता विद्युत से स्पष्टीकरण तलब

विकास कार्यों की मासिक समीक्षा में डीएम ने अधिकारियों के कसे पेंच


गोण्डा।


डीएम डा0 नितिन बंसल ने विकास कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा के दौरान फर्जी रिपोर्टिंग करने पर अधीक्षण अभियन्ता विद्युत तथा जिला पंचायतराज अधिकारी से जवाब तलब किया है। साथ ही पूरी तैयारी से न आने वाले अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि भविष्य में पूरी तैयारी के साथ ही उनकी बैठक में आएं।
शुक्रवार को डीएम ने कलेक्टेट सभागार में विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की विभागवार समीक्षा की। विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान ज्ञात हुआ कि अधीक्षण अभियन्ता द्वारा पिछले माह डीएम को दूसरी रिपोर्ट दी गई थी जबकि इस माह उन्होंने रिपोर्ट ही बदल दी। इससे नाराज डीएम ने अधीक्षण अभियन्ता को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए विद्युत विभाग की सभी रिपोर्टों के साथ तलब किया है। वहीं पंचायतीराज विभाग की समीक्षा में नलों के रिबोर की सूचना विगत माह के सापेक्ष में भिन्न पाई गई। इस पर डीएम ने डीपीआरओ से भी स्पष्टीकरण तलब किया है। इसके अलावा बैंकों द्वारा केसीसी बनाने में रूचि न लेने की शिकायतों का संज्ञान लेते हुए उन्होंने ऐसे बैंक प्रबन्धकों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश एलडीएम को दिए हैं।
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा में उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए हैं कि अस्पतालों में जीवन रक्षक दवाइयों की उपलब्धता हर हाल में सुनिश्चित की जाय। इसके अलावा वेक्टरजनित रोगों पर प्रभावी रोक लगाने के लिए चल रहे कार्यक्रमों की सघन मानीटरिंग वे स्वयं करें। पेयजल योजनाओं की समीक्षा में अवगत कराया गया कि जल निगम की ज्यादातर परियोजनाएं काम नहीं कर रही हैं। इस पर डीएम ने एक्सईन जल निगम से जवाब मांगा है। पेयजल योजनाओं के सफल संचालन के लिए निर्देश दिए हैं कि ग्राम पंचायत स्तर पर कमेटी गठित कराएं और उनके माध्यम से शुल्क वसूल कराया जाए जिससे पेयजल योजनाएं संचालित की जा सकें।
जिलाधिकारी वन विभाग की समीक्षा में निर्देश दिए हैं कि सभी विभाग अपने-अपने विभाग द्वारा रोपित कराए गए पौधों की सत्यापन रिपोर्ट एक सप्ताह में उन्हें उपलब्ध कराएं। इसके अलावा बैठक में डीएम ने सड़क निर्माण, गढडा मुक्ति, विद्युतीकरण, नहरों की स्थिति, ओडीएफ, अवैध खनन, आसरा आवास, ओडीआर एमडीआर, पेयजल, बेसिक शिक्षा, गन्ना खरीद व भुगतान, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी व ग्रामीण, किसान सम्मान निधि, ऋण मोचन योजना, सहित अन्य विभागों की विभागवार समीक्षा की तथा आवश्यक निर्देश दिए।
बैठक में सीडीओ आशीष कुमार, सीएमओ डा0 मधु गैरोला, डीएफओ आर0के0 त्रिपाठी, पीडी सेवाराम चाधरी, डीपीआरओ घनश्याम सागर, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र प्रजापति, प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह, बीएसए मनिराम सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी मोतीलाल, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।


 


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले