राष्ट्रीय पशुधन मिशन अन्तर्गत पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ

उन्नाव 


आज विकास भवन सभागार में राष्ट्रीय पशुधन मिशन अन्तर्गत पशुपालन विभाग के कर्मचारियों, पशुधन प्रसार अधिकारी एवं पैरावेट तथा कृत्रिम गर्भाधान के कार्यकर्ताओं का पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। मुख्य पशुचिकित्साधिकारी डा0 प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य कृत्रिम गर्भाधान द्वारा किये गये गर्भधारण का प्रतिशत बढ़ाना है। सभी पशुचिकित्सालयों पर हरियाणा, साहीवाल, गिरि गोवंश के सेक्स शार्टेड सीमेन उपलब्ध करा दिये गये है जिससे 90 प्रतिशत संतति मादा उत्पन्न की संभावना होगी जो कि उच्च उत्पादकता की होगी। उन्होंने छः माह से बड़े एवं एक साल तक उम्र के नर बछड़ों का यथासम्भव शतप्रतिशत बधियाकरण किये जाने के निर्देश दिये। प्रशिक्षण में मुख्य पशुचिकित्साधिकारी ने बताया कि एम0एम0डी0 का टीकाकरण प्रारम्भ होने जा रहा है। जिसमें कि गोवंशों की टैगिंग अनिवार्य रूप से की जाएगी। जनपद के समस्त किसान क्रेडिट कार्डधारक जो कि पशुपालन व्यवसाय में संलिप्त है को अपने पशुओं के भरण पोषण हेतु सम्बंधित बैंक से रू0-40,000/- तक की ऋण राशि 4 प्रतिशत ब्याज की दर पर उपलब्ध है और इस सुविधा का लाभ पशुओं के आहार हेतु कृषक लोग ले सकते है।
मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रेम रंजन सिंह ने कहा कि कृत्रिम गर्भाधान द्वारा गाय/भैंस को गर्भित कराने पर उच्च नस्ल की संतति प्राप्त होगी। जिस कारण से भविष्य में लोग अपने गोवंश को आवारा/छुट्टा छोड़े जाने पर मजबूर नहीं होंगे। साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि यहां पर आये हुए सभी प्रशिक्षणार्थी प्रशिक्षण उपरान्त क्षेत्र में जाकर बताये गये मानकों का सही तरीके से प्रयोग कर नस्ल सुधार कार्यक्रम में योगदान करें। प्रशिक्षणार्थियों को मास्टर टेªनर डा0 राकेश कुमार सिंह, पशुचिकित्साधिकारी गंगाघाट ने कृत्रिम गर्भाधान के लिए प्रयुक्त की जाने वाली मानक संचालन प्रक्रिया पर विस्तृत जानकारी दी। प्रशिक्षण में उपमुख्य पशुचिकित्साधिकारी, डा0 हेमचन्द्र श्रीवास, डा0 आर0डी0 अहिरवार, डा0 अखिलेश सचान, डा0 निर्मल कुमार, पशुचिकित्साधिकारी डा0 पुष्पराज सिंह, डा0 विकास गुप्ता व क्षेत्र के पशुधन प्रसार अधिकारी एवं पैरावेट ने प्रतिभाग किया। संचालन करते हुए डा0 अनुराग सिंह द्वारा कृत्रिम गर्भाधान द्वारा उन्नति नस्ल की प्रजातियों पर विस्तृत चर्चा की गई।  


Popular posts from this blog

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन