13 विकास खण्डों में 571 जानवर सुपुर्दगी में दिये जाने हेतु जिलाधिकारी द्वारा दी गयी स्वीकृति

 




उन्नाव 

माननीय मुख्यमंत्री जी उ0प्र0 की निराश्रित /बेसहारा गोवंश सहभागिता योजना का प्रख्यापन किया गया है। जिसके अन्तर्गत कुल 13 विकास खण्डों में 571 जानवर सुपुर्दगी में दिये जाने हेतु जिलाधिकारी श्री देवेन्द्र कुमार पाण्डेय द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी है। जिसके क्रम में मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि 24 जुलाई 2019 तक गोवंश आश्रय स्थलों में संरक्षित गोवंश की कुल संख्या में से इच्छुक व्यक्तियों को गोवंश दिया जा सकता है। इस संदर्भ में निदेशक प्रशासन एवं विकास पशुपालन विभाग उत्तर प्रदेश के द्वारा जनपद उन्नाव में दिनांक 24 जुलाई 2019 तक संरक्षित 5118 गोवंश के सापेक्ष 1853 गोवंश इच्छुक पशुपालकों को सुपुर्दगी में देने हेतु लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी बताया कि इस क्रम में मुख्य विकास अधिकारी के द्वारा जनपद के समस्त खण्ड विकास अधिकारियों/अधिशासी अभियंता नगर पालिका परिषद/ नगर पंचायतों/ अपर मुख्य अधिकारी, जिला पंचायत, उन्नाव को लक्ष्यों का निर्धारण करके अवगत कराया है कि विकास खण्ड सि0 सिरोसी में पशुपालकों की संख्या 07 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 52 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 13 निर्धारित है, विकास खण्ड सि0 कर्ण में पशुपालकों की संख्या 08 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 83 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 21 निर्धारित है, विकास खण्ड बिछिया में पशुपालकों की संख्या 13 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 43 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 37 निर्धारित है, विकास खण्ड सफीपुर में पशुपालकों की संख्या 09 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 114 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 16 निर्धारित है, विकास खण्ड फतेहपुर-84 में पशुपालकों की संख्या 21 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 67 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 50 निर्धारित है, विकास खण्ड बांगरमऊ में पशुपालकों की संख्या 21 सुपुर्दगी मे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 48 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 45 निर्धारित है, विकास खण्ड गंजमुरादाबाद में पशुपालकों की संख्या 29 सुपुर्दगी में देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 149 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 38 निर्धारित है, विकास खण्ड हसनगंज में पशुपालकों की संख्या 05 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 81 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 12 निर्धारित है, विकास खण्ड नवाबगंज में पशुपालकों की संख्या 23 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 106 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 44 निर्धारित है, विकास खण्ड पुरवा में पशुपालकों की संख्या 18 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 235 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 20 निर्धारित है, विकास खण्ड हिलौली में पशुपालकों की संख्या 04 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 85 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 12 निर्धारित है, विकास खण्ड असोहा में पशुपालकों की संख्या 64 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 201 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 146 निर्धारित है, विकास खण्ड बीघापुर में पशुपालकों की संख्या 67 सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य 195 तथा सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या 117 निर्धारित करते हुये पशुपालकों की संख्या कुल 289, सुपुर्दगी मंे देने हेतु गोवंश का लक्ष्य कुल 1459, सुपुर्दगी में देने हेतु प्राप्त गोवंश की संख्या कुल 571 निर्धारित की है। कुल 13 विकास खण्डों में 571 जानवर सुपुर्दगी में दिये जाने हेतु जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वीकृति प्रदान की गयी है।




Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

बांसडीह में जाति प्रमाण पत्र बनाने को लेकर दर्जनों लोगों ने एसडीएम को सौपा ज्ञापन