आंकड़े बताते हैं कि महिलाओं व दलितों के लिए सबसे असुरक्षित है उ.प्र. : सीपीआई-एम


लखनऊ।

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) उ.प्र. के राज्य सचिव मण्डल ने एनसीआरबी-2017 के आंकड़ों के अनुसार उ.प्र. में महिलाओं और दलितों पर बढ़ते अपराधों पर गहरी चिन्ता व्यक्त की है।

पार्टी के राज्य सचिव मण्डल सदस्य एसपी कश्यप ने आईपीएन से बातचीत में कहा कि एनसीआरबी के आंकड़े बताते हैं कि पूरे देश में महिलाओं के खिलाफ 3.54 लाख अपराध दर्ज हुए वहीं उ.प्र. में 56011 अपराध दर्ज हैं जो देश में सबसे ज्यादा हैं। एनसीआरबी के आंकड़ों के अनुसार उ.प्र. दलितों के खिलाफ होने वाले अपराधों में भी सबसे पहले स्थान पर है। 2017 में 11444 अपराध दलितों के खिलाफ दर्ज हुए। प्रदेश में एक से अधिक दलित महिला का प्रतिदिन बलात्कार होता है, जो योगी सरकार की सामंती मानसिकता को बताने के लिए पयाप्त है।
कश्यप ने कहा कि योगी सरकार प्रदेश को अपराध मुक्त बनाने का दावा करती है किन्तु आंकड़े बताते हैं कि उ.प्र. महिलाओं व दलितों के लिए सबसे असुरक्षित है। कहा कि पार्टी ने प्रदेश की लगातार बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर चिंता व्यक्त की है तथा योगी सरकार की कटु निंदा की है।


Popular posts from this blog

स्वरोजगारपरक योजनाओं के अंतर्गत ऑनलाइन ऋण वितरण मेले का किया गया आयोजन

भारत विदेश नीति के कारण वैश्विक शक्ति बनेगा।

मंत्र की उपयोगिता जांचें साधना से पहले